X

इन चार वजहों से 2019 चुनाव में मोदी सरकार को वोट नहीं करेगी जनता !

इन चार वजहों से 2019 चुनाव में मोदी सरकार को वोट नहीं करेगी जनता !
साल 2014 में भारतीय जनता पार्टी को लोगों ने अच्छे दिनों की आस में वोट दिया था लेकिन लोगों की यह उम्मीद अब दम तोड़ती नजर आ रही है. बेरोजगारी, महंगाई और गरीबी से जनता पहले भी त्रस्त थी और आज भी इनके हालात में कोई फर्क नहीं देखा गया है. मोदी सरकार में भी गरीबों की हालत जस की तस बनी हुई है. ऐसे में अब आने वाले लोकसभा चुनाव से पहले लोगों के मन में बीजेपी के लिए गुस्सा देखा जा रहा है. ऐसे में बीजेपी को भारत की जनता भी आने वाले लोकसभा चुनाव में नकार सकती है. आइए एक नजर उन पहलुओं पर डालते हैं जो बताते हैं कि जनता 2019 में मोदी सरकार को दोबारा वोट नहीं देगी... चुनावी वादे मोदी सरकार अब तक साल 2014 में किए चुनावी वादों को पूरा नहीं कर पाई है. देश में 100 नए स्मार्ट शहर, राष्ट्रीय वाइ-फाई नेटवर्क बनाना, कृषि उत्पाद के लिए अलग रेल नेटवर्क, हर घर को नल के जरिए पानी की सप्लाई, जमाखोरी और कालाबाजारी रोकने के लिए विशेष न्यायालयों का गठन, अदालतों की संख्या दोगुनी, गंगा की सफाई, रोजगार उपलब्ध करवाने जैसे कई मुद्दे हैं जिन्हें बीजेपी सरकार अभी तक पूरा नहीं कर पाई है. ऐसे में बीजेपी को 2019 में झटका लग सकता है. यहां आप अच्छे से जान जाएंगे कि अखिलेश यादव और सीएम योगी की सरकार में क्या है अंतर ! पेट्रोल-डीजल की दाम मोदी सरकार के आने के बाद पेट्रोल-डीजल के दामों में रोजाना बढ़ोतरी देखी गई है. आलम तो यहां तक पहुंच चुका है कि विश्व बाजार में कच्चे तेल के दाम कम होने के बावजूद भारत में पेट्रोल-डीजल के दामों में इजाफा हो जाता है. वहीं अब पेट्रोल 75 रुपये के पार पहुंच चुका है. बीजेपी ने साल 2014 चुनाव में पेट्रोल-डीजल को मुद्दा बनाया था और दाम कम करने की बात कही थी लेकिन ऐसे करने में मोदी सरकार पूरी तरह से फेल साबित हुई है. गिरता रुपया मोदी सरकार आने के बाद रुपया लगातार डॉलर के मुकाबले गिरा है. रुपए में गिरावट के कारण अर्थव्यवस्था की रफ्तार भी धीमी पड़ रही है. जिसके कारण देश में महंगाई भी बढ़ रही है. मोदी सरकार ने रुपए में गिरावट को रोकने की बात कही थी लेकिन इसमें सरकार नाकाम साबित हुई है. काला धन सत्ता में आने से पहले बीजेपी ने काले धन को लेकर काफी बड़ी-बड़ी बातें कही थी. विदेशों से, स्विस बैंक अकाउंट से काले धन को लाने की बात कही गई थी लेकिन काले धन को लाने में सरकार विफल रही है. ऐसे में 2019 में बीजेपी का दोबारा सत्ता में आने काफी मुश्किल है. दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं कि अमित शाह कौन है.
News 1
old

News 1

बड़ी खबर
old

बड़ी खबर