Home Trending जेफ बेजोस को पछाड़ मुकेश अंबानी कब तक बन पाएंगे दुनिया के सबसे अमीर आदमी?

जेफ बेजोस को पछाड़ मुकेश अंबानी कब तक बन पाएंगे दुनिया के सबसे अमीर आदमी?

by Gwriter

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने हाल ही में दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में एक स्थान ऊपर की सीढ़ी चढ़ी है. वह गूगल के संस्थापकों सर्जे ब्रिन और लैरी पेज को पछाड़कर दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति बन गए हैं. मुकेश अंबानी की मौजूदा संपत्ति की बात करें तो वह फिलहाल 72.4 अरब डॉलर के मालिक है. 63 साल के मुकेश अंबानी ने रिलायंस इंडस्ट्रीज को शिखर पर पहुंचाया है. वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक और कंपनी के सबसे बड़े शेयरधारक हैं. वहीं अमेजन के संस्थापक जेफ बेजोस अमीर व्यक्तियों की इस रेस में सबसे आगे दौड़ रहे हैं. साल 2018 से ही जेस बेजोस ने दुनिया के सबसे अमीर आदमी और सबसे ज्यादा संपत्ति रखने वाले इंसान हैं. जेफ बेजोस की मौजूदा संपत्ति की बात करें तो वह 143 अरब डॉलर यानी 14,300 करोड़ डॉलर की संपत्ति के मालिक हैं. हालांकि ऐसे में सवाल यह आता है कि क्या भारत के कारोबारी मुकेश अंबानी दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन सकते हैं? साथ ही यह सवाल भी आता है कि ऐसा कब तक होना संभव है?

दोस्तों, रिलायंस इंडस्ट्रीज भारत सहित कई देशों में व्यापार करती है. कपड़ों के शोरूम से लेकर इंटरटेंनमेंट इंडस्ट्री तक हर जगह रिलायंस कंपनी को सफल और भरोसेमंद कंपनी माना जाता है. 2016 में जियो कंपनी को लांच करने के बाद रिलायंस ने टेलीकॉम इंडस्ट्री पर भी अपना सिक्का जमा लिया है. मौजूदा वक्त में जियो भारत की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनियों में से एक है. सस्ते प्लान और जबर्दस्त इंटरनेट स्पीड के चलते मुकेश अंबानी की कंपनी ने 4 सालों में सभी पुरानी कंपनियों को पीछे छोड़ दिया है. वहीं पेट्रोलियम उत्पादों में भी रिलायंस ने अपना पैर जमा रखा है. हालांकि रिलायंस अपने पेट्रोलियम उत्पादों को विदेशों में बेचना पसंद करता है. वहीं देश में रिलायंस का पेट्रोल सरकारी दामों से ज्यादा पर बेचा जाता रहा है. साथ ही सबसे ज्यादा भरोसेमंद भी माना जाता रहा है. इसी के साथ रिलायंस ने डेली वियर मार्केट में भी अपना बिजनेस को तेजी से बढ़ाया है. बॉलीवुड में भी रिलायंस इंटरटेंनमेंट ने अपनी अलग जगह बना ली है. इन सब कंपनियों से रिलायंस इंटस्ट्रीज का सालाना टर्नओवर करीब 1.3 लाख करोड़ रुपये है. वित्त वर्ष 2018-19 में रिलायंस इंडस्ट्रीज ने 12,912 करोड़ रुपए का टैक्स चुकाया था.

वहीं 1994 में किताबों की ऑनलाइन सेल के साथ शुरू हुई कंपनी अमेजन आज दुनिया की सबसे फोर्चुन कंपनी है. जेफ बेजोस अमेजन के अध्यक्ष, मुख्य कार्यकारी अधिकारी और अमेजन.कॉम बोर्ड के अध्यक्ष हैं. अमेजन पर हमें हर तरह के उत्पाद मिल जाते हैं. साथ ही अब अमेजन ने अपने पैर ऑनलाइन इंटरटेंमेंट में भी पसारने शुरू कर दिए हैं. प्राइम वीडियो के नाम से अमेजन ने फिल्मों, वेब सीरीज और अन्य ऑनलाइन इंटरनेट सामग्री के लिए एक प्लेटफॉर्म चलाया हुआ है. यूनाइटेड स्टेट में स्थित इस कंपनी का व्यापार लगभग सभी देशों में है. इसी के साथ यह दुनिया के कई देशों को सामान के उत्पादों के एक्सचेंज से कनेक्ट भी करता है. अमेजन दुनिया की पहली सबसे ज्यादा कमाई करने वाली एप और वेबसाइट है. अमेजन कंपनी का सालाना टर्नओवर लगभग 75.5 बिलियन डॉलर का है.

अब बात आती है मुकेश अंबानी के जेफ बेजोस से आगे निकलने और साथ ही इस संभावना पर कि क्या मुकेश अंबानी दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन सकते हैं या नहीं? इस बात को हम ऐसे समझ सकते हैं कि छह साल बाद यानी साल 2026 तक बेजोस की संपत्ति बढ़कर एक ट्रिलियन डॉलर यानी 1000 अरब डॉलर हो जाएगी. वहीं मुकेश अंबानी को संपत्ति के इस आंकड़े तक पहुंचने में 7 साल से ज्यादा का समय लगेगा. रिपोर्ट के मुताबिक 2033 तक मुकेश अंबानी को खरबपति का दर्जा मिल सकता है. ऐसे में 2050 के आसपास जाकर इन दोनों कंपनियों के बीच में कितना अंतर रहता है उससे साफ हो सकता है कि मुकेश अंबानी को विश्व के सबसे अमीर आदमी का ताज पहनने में कितना वक्त लगेगा.

Related Articles

Leave a Comment