काफी शानदार फाइटर हैं कॉनर मैकग्रेगर, कम लोग ही जानते हैं उनकी ये दिलचस्प बातें

यह कोई रहस्य नहीं है कि आज मिक्स मार्शल आर्ट्स की दुनिया बहुत बड़ी हो चुकी है. यह न केवल कठिन और सीधा संघर्ष है बल्कि यह एक जबरदस्त लड़ाई शो भी है. इसमें खिलाड़ी मुकाबला जीतने के लिए हर दांव लगा देते हैं. वहीं मिक्स मार्शल आर्ट्स एक ऐसा खेल है जो खिलाड़ियों को मैदान पर आखिरी सांस तक लड़ने की प्रेरणा देता है. मिक्स मार्शल आर्ट्स में आयरिश खिलाड़ी कॉनर मैकग्रेगर एक बड़ा नाम है. कॉनर मैकग्रेगर एक ऐसे फाइटर हैं जो हर वर्ग के लोगों के बीच काफी मशहूर हैं. कॉनर मैकग्रेगर का जन्म डबलिन, आयरलैंड में हुआ था. वह यूएफसी में शामिल होने वाले पहले आयरिश व्यक्ति हैं. आइए यहां जानते हैं कॉनर मैकग्रेगर के दिलचस्प तथ्यों के बारे में….

प्लम्बर
सबसे लोकप्रिय और साथ ही मिक्स मार्शल आर्ट्स का एक साहसी और करिश्माई खिलाड़ी के तौर पर कॉनर मैकग्रेगर को देखा जाता है. विश्वास करना मुश्किल है, लेकिन कुछ साल पहले लगभग इस आदमी के बारे में कोई नहीं जानता था. कॉनर की कहानी इस तथ्य से शुरू होती है कि उसने प्लम्बर के रूप में काम किया, लेकिन वह केवल उस जीवन के बारे में सपना देख रहा था जो उसके पास है. यह पहचानना जरूरी है कि सपने सच हो जाएं और मैकग्रेगर इसका एक ज्वलंत उदाहरण है.

12 साल की उम्र में डिजाइन किया था वीडियो गेम, आज दुनिया के ताकतवर लोगों में शुमार है एलन मस्क

तेजी से टाइटल जीतने का रिकॉर्ड
टाइटल फाइट बहुत ही थकाने वाली होती है. नॉर्मल फाइट की तुलना में इसमें फाइटर ज्यादा देर तक बचाव करते हैं. मैकग्रेगर के पास सबसे तेज टाइटल फाइट जीतने का रिकॉर्ड है, और सबसे खास बात ये है कि फाइट केवल 13 सेकेंड ही चली. 12 दिसंबर 2015 को मैकग्रेगर ने यूएफसी के फैदरवेट चैंपियन होजे एल्डो से मुकाबला किया. होजे एल्डो उस समय 10 साल से कोई फाइट नहीं हारे थे, लेकिन अपने शानदार पंच से मैकग्रेगर ने एल्डो को मात्र 13 सेकेंड में ही चित्त कर फैदरवेट चैंपियन बन गए.

भयानक अनुभव
साइज में छोटे होने के कारण मैकग्रेगर को हाइस्कूल में काफी तंग किया गया था, वो उनके लिए एक भयानक अनुभव था. एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि उन्हें हाईस्कूल के दौरान काफी डराया-धमकाया गया था, और यहां तक कहा जाने लगा था कि उनका चेहरा ऐसा था कि बच्चे उन्हें ही परेशान करते थे. इन्हीं अनुभवों के कारण मैकग्रेगर ने मार्शल आर्ट्स सीखा, एमएमए फाइटर बनने से पहले वो एक बॉक्सर थे.

4 सेकेंड में नॉकआउट
मैकग्रेगर ने करियर में एक विरोधी को सिर्फ 4 सेकेंड में चित कर दिया था. इम्मॉर्टल फाइटिंग चैंपियनशिप-4 में एक फाइट के दौरान मैकग्रेगर ने अपने विरोधी पैडी डोहर्टी को महज 4 सेकेंड में ही पस्त कर दिया. उनके इस कारनामे से दर्शक हैरान ही रह गए. इस जीत के बाद उनके पंच काफी मशहूर हो गए.

कभी नॉकआउट नहीं हुए
एक स्ट्राइकर होने की वजह से मैकग्रेगर ने कई फाइटरों को नॉकआउट किया, लेकिन क्या आपको पता है कि अपने MMA करियर में वो कभी खुद नॉकआउट नहीं हुए. मैकग्रेगर अपने MMA करियर में 3 बार हारे, और वो सभी हार उन्हें सबमिशन के जरिए मिली.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं कि जॉन सीना किस खेल से जुड़े हुए हैं.

(Visited 41 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :