क्या चल रहा है ?
पाकिस्तानी दुश्मन के हाथ की घड़ी का वक्त भी देख लेगा भारत का ये सैटेलाइट | अनुच्छेद 370: अमित शाह ने इस बड़े कारण से लद्दाख को कश्मीर से अलग किया? | प्रधानमंत्री 15 अगस्त को लाल किले पर ही क्यों फहराते हैं तिरंगा? | भारत को 15 अगस्त 1947 की रात 12 बजे ही आजादी क्यों मिली? | पाकिस्तान 15 अगस्त को आजाद हुआ लेकिन 14 अगस्त का क्यों मनाता है स्वतंत्रता दिवस? | बिहार के रवीश कुमार ने नरेंद्र मोदी की बोलती की बंद! मिला रेमन मैग्सेसे अवार्ड | क्या है कश्मीर का इतिहास? कश्मीर के लिए क्यों लड़ते हैं भारत-पाकिस्तान? | चांद पर एलियन का पता लगाएगा भारत का चंद्रयान-2? | चंद्रयान-2: अगर भारत को चांद पर मिली ये चीज तो दुनिया पर करेगा राज | लिफ्ट से चांद पर पहुंचना होगा आसान, चंद्रयान जैसे मिशन की भी जरूरत नहीं? | क्या है धारा 370? जम्मू कश्मीर से मोदी सरकार ने क्यों हटा दी? | चंद्रयान-2: इसरो के कदमों में गिरा नासा, मदद की मांगी भीख | चंद्रयान-2 का सच! क्या चांद पर वाकई पानी है? | चंद्रयान-2: लॉन्चिंग से पहले इसरो ये टोटका नहीं करता तो मिशन फेल हो जाता? | 'बाहुबली' चंद्रयान-2 को कंधे पर उठाकर चांद पर पहुंचाएगा?... | Xiaomi के Redmi K20 और Redmi K20 Pro ने तहलका मचा दिया... | बिहार में हर साल बाढ़ से तबाही क्यों मचती है? | Hyudai की Venue कार कैसी है? | अगर स्टडी में इंटरेस्ट नहीं हो तो ऐसे स्टूडेंट्स को क्या करना चाहिए? | 10 महीने की उम्र में इस बच्ची का वजन जानकर हर कोई दंग रह गया, देखें वीडियो |

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भी ऊंची है दुनिया की ये चीजें, हर कोई जानकर रह जाएगा हैरान

स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भी ऊंची है दुनिया की ये चीजें, हर कोई जानकर रह जाएगा हैरान
भारत को एक सूत्र में बांधने वाले आजाद भारत के पहले गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार पटेल की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' को देश को समर्पित किया. सरदार पटेल की इस मूर्ति की ऊंचाई 182 मीटर है, जो दुनिया में सबसे ऊंची है. यह इतनी बड़ी है कि इसे 7 किलोमीटर की दूरी से भी देखा जा सकता है. 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' ऊंचाई में अमेरिका की 93 मीटर ऊंचाई वाली 'स्टैच्यू ऑफ लिबर्टी' से दोगुना है. हालांकि दुनिया में कुछ चीजें ऐसी भी मौजूद है जो स्टैच्यू ऑफ यूनिटी से भी ज्यादा लंबी है. आइए जानते हैं इसके बारे में... बुर्ज खलीफा 828 मीटर ऊंची यह इमारत दुबई में बनी है. इसमें कुल 160 मंजिल हैं. इस इमारत को बनाने में 1.5 ब‍िलियन डॉलर खर्च हुए हैं. बुर्ज खलीफा दुनिया की सबसे ऊंची इमारत है. यह इमारत विश्‍व के सबसे महंगे निर्माणों में से एक है. बुर्ज खलीफा को बनाने में 8 अरब डॉलर खर्च हुए थे. बुर्ज खलीफा आइफिल टावर की तुलना में 3 गुना ज्यादा ऊंचा है. शंघाई टावर चीन के शंघाई में साल 2015 में बनी यह बिल्डिग 632 मीटर लंबी है और इसमें 128 फ्लोर हैं. शंघाई टावर बनाने में लगभग 2.4 अरब डॉलर की लागत आई है. इस इमारत को बनाने का काम 2008 में शुरू हुआ था. रॉयल क्लॉक टावर होटल सऊदी अरब के मक्का में अब्राज अल-बत टावर क्लॉक के नाम से भी जानी जाती है. यह 601 मीटर ऊंची इमारत है. जिसे साल 2012 में बनाया गया था. इस बिल्डिंग के ऊपर 120 वें फ्लोर पर एक जर्मन आर्किटेक कंपनी ने क्लॉक टावर बनाया है. कार चलाते वक्त अक्सर लोग करते हैं ऐसी गलतियां, बाद में हर किसी को पड़ता है पछताना! सीटीएफ फाइनेंस सेंटर सीटीएफ फाईनेंस सेंटर दुनिया की चौथी सबसे ऊँची इमारत मे शुमार है. यह इमारत Guangdong चीन मे है. इसकी ऊंचाई 530मीटर है. इस इमारत मे 111 मंजिल है. इसको बनाने की शुरुआत 2010 मे शुरू हुआ था जो 30 मई 2016 मे बनकर तैयार हुआ. यह चीन की दूसरी सबसे ऊंची इमारत है. इसे बनाने मे 1.8 बिलियन डॉलर खर्च हुए थे. वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर वन वर्ल्ड ट्रेड सेंटर 104 मंजिल का है. यहां से चारों तरफ 80 किमी दूर तक का नजारा दिखता है. इमारत के ग्राउंड फ्लोर से डेक तक हाई स्पीड लिफ्ट से आने में 47 सेकंड लगते हैं. 2014 में न्यूयॉर्क में बना 541 मीटर ऊंचा यह ट्रेड सेंटर अमेरिका की सबसे ऊंची बिल्डिंग है. इसमें 104 फ्लोर हैं. ताइपे 101 ताइवान में नीले-हरे कांच की दीवारों के साथ 509 मीटर की ऊंचाई वाली ताइपे दुनिया में सबसे बड़ी हरे रंग की बिल्डिंग है. इसे लीडरशिप इन एनर्जी और एनवायरमेंट डिजाइन(एलईईडी) अवॉर्ड भी मिल चुका है. 508 मीटर ऊंची और 101 फ्लोर वाली इस बिल्डिंग में ज्यादातर ऑफिस हैं. शंघाई वर्ल्ड फाइन्नेशियल सेंटर शंघाई वर्ल्ड फाइन्नेशियल सेंटर शंघाई चीन मे है. इसकी ऊंचाई 492 मीटर है. इसमें 101 मंजिल है. इसकी बनने की शुरुआत 27 अगस्त 1997 को शुरू हुई थी जो 2008 मे बनकर तैयार हुआ. इसे बनाने मे 11 साल का समय लगा. इस इमारत मे 91 लिफ्ट है. साथ ही इसे बनाने मे 1.2 बिलियन डॉलर का खर्च हुआ. जिफेंग टॉवर जिफेंग टावर चीन के नानजिंग शहर में है. इस इमारत का निर्माण 2010 में हुआ था. 450 मीटर ऊंची 89 मंजिला इमारत निनजिंग जिफेंग टॉवर पर लोग तस्वीरें लेना काफी पसंद करते हैं. दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि स्टैच्यू ऑफ यूनिटी भारत के किस राज्य में बनाई गई है.