भारत में होती है ऐसी अजीब शादियां, जिसके बारे में आपने न तो सुना होगा और न ही देखा होगा!

शादी हर किसी की जिंदगी का एक अहम हिस्सा होता है. शादी के बंधन में बंध कर सात जन्मों तक साथ रहने की कसमें खाई जाती हैं. वहीं शादी के जरिए मिलने वाले लाइफ पार्टनर के साथ हम अपने घर-गृहस्थी को आगे बढ़ाते हैं. शादी में कई तरह की रस्में निभाई जाती है. वहीं कुछ रस्में पुरानी मान्यतों से जोड़कर देखी जाती है लेकिन अब इन परंपराओं से शादी करना काफी अजीब माना जाता है. हालांकि भारत में इन रस्मों को निभाते हुए कई बार हैरान करने वाली शादियां भी देखने को मिली हैं. इन शादियों के बारे जिसने भी सुना या जिसने भी इन शादियों को देखा होगा वो बिल्कुल ही हैरान रह गया होगा. आज हम आपको ऐसी ही कुछ चौंकाने वाली शादियों की परंपराओं के बारे में बताएंगे, जिनको जानपर आपको भरोसा भी नहीं होगा कि इस तरह की शादियां भी हो सकती है…

शादी से पहले सेक्स

राजस्थान के उदयपुर, सिरोही और पाली जिलो में रहने वाली गरासिया जनजाति के लोग भी शादी की परंपराओं को लेकर कम नहीं है. इस जनजाति में शादी से पहले लड़का और लड़की को साथ रखा जाता है और शादी से पहले ही बच्चा पैदा करने की प्रथा है. यानी की शादी से पहले ही जोड़े को आपस में सेक्स करना होगा. जिसके बाद अगर बच्चा पैदा नहीं होता तो इस तरह की शादी को मान्यता नहीं दी जाती.

मामा-भांजी की शादी

दक्षिण भारत शिक्षा के मामले में भारत में काफी आगे माना जाता है. लेकिन यहां भी शादी को लेकर अजीब प्रथाएं चलती आ रही हैं. यहां पर ज्यादातर समाज मामा और भांजी की शादी को प्राथमिकता देते है. इस अनोखी प्रथा के पीछे जमीन-जायदाद मुख्‍य वजह मानी जाती है और कई बार लड़का और लड़की की सहमति न होने के बाद भी शादी करा दी जाती है.

बिहार की आंटियां इस वजह से काफी हॉट एंड बोल्ड होती हैं…

एक ही लड़की से परिवार के सभी लड़कों की शादी

हिमाचल का किन्नौर जिला जितना अपनी खूबसूरती के लिए मशहूर है उतना ही एक प्रथा की वजह के लिए भी है. जिसमे एक ही लड़की से परिवार के सभी लड़कों की शादी करा दी जाती है. इस रि‍वाज को लेकर पांडवों और द्रौपदी को उदाहरण माना जाता हैं. ये प्रथा भी प्राचीन समय से चली आ रही है.

भाई-बहन की आपस में शादी

छत्तीसगढ़ आदिवासी समाज में शादी को लेकर एक अजीब प्रथा है. यहां धुरवा आद‍िवासी जनजात‍ि में भाई-बहन आपस में शादी करते हैं. ज्यादातर इसमें ममेरे और फुफेरे भाई बहनों की शादी होती है. वहीं जो परिवार इस तरह की शादी का प्रस्ताव ठुकरा देता है तो उस पर जुर्माना भी लगाया जाता है.

महिलाओं की एक से ज्यादा शादी

भारत के राज्य मेघालय की बात की जाए तो यहां पर कुछ जनजातियां ऐसी है जहां पर शादियों के मामले में महिलाओं का वर्चस्व चलता है. यहां की कुछ जनजातियों में महिलाओं को पुरुषों से ज्यादा प्राथमिकता दी जाती है. जिसमे महिला अपनी मर्जी से कई शादी कर सकती है. यही नहीं, महिला पुरुषों को अपने साथ ससुराल में भी रख सकती है. ये प्रथा काफी समय से चली आ रही है. हालांकि अब इस प्रथा को बदले जाने की मांग भी काफी हो रही है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि आपकी शादी हो चुकी है या नहीं?

(Visited 75 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :