क्या चल रहा है ?
ट्रंप भी खड़े होकर ताली बजाने लगे - आखिर मोदी ने ऐसा क्या बोला - Howdy Modi | टूरिज्म के लिहाज से बिहार का गया क्यों बन चुका है इतना खास? | घर बैठकर आसानी से कैसे बुक करें फ्लाइट टिकट?... | घर बैठकर ऑनलाइन कैसे बुक करें रेल टिकट? | जानिए 2019 Honda Activa 125 कैसी है? | BCA-MCA करने से क्या फायदा है? | कुछ लोग बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं? | क्या है परिवहन से जुड़ी हाइपरलूप तकनीक... | बॉलीवुड को मिली दूसरी लता मंगेशकर, गरीबी में कुछ ऐसी थी रानू मंडल की जिंदगी | क्या है 5G तकनीक? कैसे करती है काम? | सिर्फ 5 लाख रुपये से CCD के मालिक सिद्धार्थ ने कैसे खड़ा किया अरबों का कारोबार? | पाकिस्तानी दुश्मन के हाथ की घड़ी का वक्त भी देख लेगा भारत का ये सैटेलाइट | अनुच्छेद 370: अमित शाह ने इस बड़े कारण से लद्दाख को कश्मीर से अलग किया? | प्रधानमंत्री 15 अगस्त को लाल किले पर ही क्यों फहराते हैं तिरंगा? | भारत को 15 अगस्त 1947 की रात 12 बजे ही आजादी क्यों मिली? | पाकिस्तान 15 अगस्त को आजाद हुआ लेकिन 14 अगस्त का क्यों मनाता है स्वतंत्रता दिवस? | बिहार के रवीश कुमार ने नरेंद्र मोदी की बोलती की बंद! मिला रेमन मैग्सेसे अवार्ड | चांद पर एलियन का पता लगाएगा भारत का चंद्रयान-2? | चंद्रयान-2: अगर भारत को चांद पर मिली ये चीज तो दुनिया पर करेगा राज | लिफ्ट से चांद पर पहुंचना होगा आसान, चंद्रयान जैसे मिशन की भी जरूरत नहीं? |

बॉलीवुड को मिली दूसरी लता मंगेशकर, गरीबी में कुछ ऐसी थी रानू मंडल की जिंदगी

पश्चिम बंगाल के रानाघाट रेलवे स्टेशन पर बैठकर लता मंगेशकर की आवाज में गाना गाने वाली रानू मंडल अपने इस टैलेंट को लेकर रातोंरात ही सुपरस्टार बन गईं हैं.

आज के दौर में सोशल मीडिया एक ताकतवर हथियार बन चुका है. इंटरनेट की वजह से सोशल मीडिया पर आज हर किसी की पहुंच है. गरीब से लेकर अमीर लोग तक सोशल मीडिया का इस्तेमाल करते हुए देखे जा सकते हैं. वहीं सोशल मीडिया के कारण कई लोग रातों रात स्टार भी बन चुके हैं. जी हां, दोस्तों... आप सोशल मीडिया की ताकत के बारे में इस बात से ही अंदाजा लगा सकते हैं कि इसी सोशल मीडिया के कारण आज रेलवे स्टेशन पर गाना गाने वाली एक महिला बॉलीवुड में एंट्री कर चुकी है. आप भी जानकर हैरान होंगे लेकिन ये सच है. दोस्तों, हम बात कर रहे हैं रानू मंडल की, जिनका सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में वो रेलवे स्टेशन पर गाना गा रही थी. उनकी आवाज इतनी सुरीली थी कि आज वो बॉलीवुड में पहुंच चुकी है. लेकिन दोस्तों क्या आप, जानते हैं कि कौन है ये रानू मंडल और कैसी है इनकी जिंदगी? आइए जानते हैं...

पश्चिम बंगाल के रानाघाट रेलवे स्टेशन पर बैठकर लता मंगेशकर की आवाज में गाना गाने वाली रानू मंडल अपने इस टैलेंट को लेकर रातोंरात ही सुपरस्टार बन गईं हैं. अपने एक वीडियो के चलते रानू मंडल ने पूरे देश में अपनी दमदार पहचान बना ली. रानाघाट स्टेशन पर एक यात्री ने करीब ढाई मिनट के एक गाने वाला वीडियो रिकॉर्ड किया. जिसके बाद उन्होंने इस वीडियो को फेसबुक पर अपलोड कर दिया. इस विडियो में 59 वर्षीय महिला लता मंगेशकर के हिट सॉन्ग 'एक प्यार का नगमा' गाती नजर आ रही थीं और उनकी सुरीली आवाज ने हर किसी का दिल चुरा लिया. खास बात यह है कि रानू मंडल ने अब बॉलीवुड में भी एंट्री कर ली है. बॉलीवुड सिंगर हिमेश रेशमिया ने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट से रानू मंडल का एक वीडियो शेयर किया है, जिसमें वह अपनी फिल्म 'हैप्पी हार्डी एंड हीर' के लिए गाना 'तेरी मेरी कहानी...' रिकॉर्ड करती दिखाई दे रही हैं. इस दौरान हिमेश रेशमिया भी वहीं स्टूडियो में उनके साथ मौजूद थे और हिमेश रानू को बार-बार एप्रीशिएट करते नजर आ रहे थे.

लेकिन दोस्तों, रानू की जिंदगी इतनी आसान नहीं रही है. आज जिस शोहरत के मुकाम पर रानू पहुंची है वो इतना जल्दी उन्हें हासिल नहीं हुआ. रानू की जिंदगी काफी गरीबी में गुजरी है. कोलकाता से लगभग 80 किमी दूर रानाघाट के बेगोपारा में दो बेडरूम वाले एक टूटे घर में रानू रहा करती हैं. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स इस बात का दावा करती हैं कि रानू अपनी रोजी रोटी के लिए ही रेलवे स्टेशन पर गाना गाया करती थी. और गाना गाकर जो कुछ भी मिलता उसी से अपना गुजारा करती थी. लोगों को भी रानू की आवाज पसंद आती लेकिन लोग उन्हें अनदेखा कर दिया करते थे. 

दोस्तों, रानू न्यूरोलॉजिकल डिसऑर्डर और पैनिक अटैक से पीड़ित हैं. रानू का लालन-पालन उनकी आंटी ने किया है. बेहद की कम उम्र में रानू ने अपनी मां को खो दिया था. रानू अपना गुजारा रेलवे स्‍टेशन और लोकल ट्रेन में गाकर करती थी. इस दौरान साल 2019 के जुलाई महीने में किसी ने रानू को रानाघाट रेलवे स्‍टेशन पर गाते हुए एक वीडियो रिकॉर्ड कर सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया था. हालांकि बीते साल के अक्टूबर महीने में भी रानू के पड़ोसी तपन दास ने भी उनके गाने का एक विडियो सोशल मीडिया पर अपलोड किया था. तब उनकी आवाज पर किसी का ज्यादा ध्यान नहीं गया था, लेकिन अब बहुत से प्रोड्यूसर्स दास के भी संपर्क में हैं.

दोस्तों, रानू मंडल की जिंदगी आपको कितना प्रेरित करती हैं, हमें कमेंट बॉक्स में कमेंट कर इसके बारे में जरूर बताएं.

दोस्तों, रानू बताती हैं कि यह उनकी प्रसिद्धि का पहला मौका नहीं है. इससे पहले जब वह 20 साल की थीं, तब एक क्लब के लिए गाना गाती थीं. तब लोग उन्हें रानू बॉबी बुलाते थे. इससे वो अच्छे पैसे कमा रही थीं, लेकिन उनके घर वालों को न तो उनका गाना पसंद आया था और न उनका काम. इसलिए उन्होंने यह सब बंद कर दिया. इसके बाद रानू की जिंदगी काफी तकलीफ से गुजरी.

दोस्तों, रानू के पति की मौत हो चुकी है. उन्होंने मुंबई के रहने वाले बबलू मंडल से शादी की थी. पति के देहांत के बाद उन्हें मुंबई छोड़नी पड़ी. वहीं उनकी एक बेटी भी है, जो कि उनसे दस साल से बात नहीं कर रही थी. पति की मौत के बाद से रानू अलग-अलग रेलवे स्टेशन पर गाने गाकर पैसे कमाती थीं. रानू की जिंदगी में इतनी ही परेशानियां नहीं रहीं. रानू अपनी बेटी से भी बिछड़ चुकी थी. रानू रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में गाना गाकर अपना पेट पालती थीं. गाना गाने के बाद लोग रानू को बदले में रुपये और खाना देकर जाते थे. मां की ऐसी हालात को देखकर उनकी बेटी ने उनसे बोलना बंद कर दिया था और शर्मिंदगी की वजह से रानू की बेटी ने उनसे कोई रिश्ता नहीं रखा. यही वजह है कि दस साल से उनकी बेटी उनसे बात नहीं कर रही थी. हालांकि, अब प्रसिद्धि मिलने पर बेटी ने रानू से बात की है. रानू को भी असली खुशी तब मिली जब वीडियो वायरल होने के बाद दस साल पहले छोड़ चुकी रानू की बेटी ने उनसे घर आकर मुलाकात की. बेटी के आने से रानू खुशी से फूले नहीं समा पाईं. रानू का कहना है कि यह उनकी दूसरी जिंदगी है और अब वो इसे बेहतर बनाने की कोशिश करेंगी.

दोस्तों, अब रानू के वीडियो वायरल होने के बाद रानू को रेडियो चैनल्स, फिल्म प्रोडक्शन हाउस, बंगाल के लोकल क्लबों और केरल के एक लोकहितकारी संगठन से गाने के लिए कई ऑफर आए हैं. इसके अलावा एक बंगाली बैंड में भी उनसे स्टेज शो के लिए संपर्क किया है. वहीं दोस्तों, रानू का पहला वीडियो वायरल होते ही हर तरफ रानू मंडल की ही चर्चा होने लगी और लोग कहने लगे कि म्यूजिक इंडस्ट्री को दूसरी लता दीदी मिल गई हैं. अब रानू को लगातार नए-नए ऑफर मिल रहे हैं, जिससे उन्हें अपनी जिंदगी को सुधारने का भी मौका मिला है. जिंदगी के इस मोड़ पर अपनी इस सफलता से रानू काफी खुश हैं.