मिडिल क्लास के लोगों को मोदी ने पांच सालों तक दिया धोखा, अब लोकसभा चुनाव में कटेंगे वोट!

हाल ही में देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो चैट के जरिए तमिलनाडु के बीजेपी कार्यकर्ताओं से रूबरू हो रहे थे. ऐसे में कार्यकर्ताओं से बातचीत के दौरान एक पल ऐसा आया जब पीएम मोदी की उम्मीद से परे एक कार्यकर्ता ने उनसे थोड़ा कठिन सवाल पूछ लिया. बीजेपी कार्यकर्ता ने पीएम से पूछा कि सरकार मिडिल क्लास से टैक्स तो खूब वसूल रही है लेकिन उनका ध्यान नहीं रख रही है. इस सवाल का जवाब दिए बिना ही पीएम मोदी ने उस कार्यकर्ता को वणक्कम यानी नमस्कार बोल दिया. ऐसे में सवाल उठता है कि पीएम मोदी क्या देश के बड़े वर्ग यानी मिडिल क्लास के लोगों को नजर अंदाज कर रही है? क्या मोदी सरकार मध्यम वर्ग को सिर्फ टैक्स वसूलने के एक जरिए के रूप में इस्तेमाल कर रही है? अगर ऐसा है तो बीजेपी को साल 2019 के लोकसभा चुनाव में देश के मध्यम वर्गिय लोगों से झटका लग सकता है. वहीं अगर देखा जाए तो हालिया वक्त में ऐसा नजर भी आ रहा है कि मिडिल क्लास के लोग पीएम मोदी से बेआबरू हो रहे हैं. ऐसे में आइए जानते हैं उन वजहों के बारे में जिनके कारण मिडिल क्लास मोदी से खफा हैं…

जुमलेबाजी नहीं चलेगी

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने कई वादे किए थे. हालांकि पांच साल पूरे होने हैं और इस सरकार ने अभी तक उन वादों को पूरा नहीं किया है. साथ ही लोगों को भी अब समझ आ चुका है कि वो वादे सिर्फ और सिर्फ जुमले थे. इनमें अच्छे दिनों का वादा, हर बैंक अकाउंट में 15 लाख डलवाने का वादा, विदेशों में जमा काला धन वापस लाना, राम मंदिर मुद्दा, गंगा सफाई, महंगाई में कमी जैसे कई वादे थे जो बीजेपी सरकार अपने पांच साल के कार्यकाल में पूरा नहीं कर पाई है. वहीं इन वादों के कारण साल 2014 में मिडिल क्लास के लोगों ने मोदी सरकार को सबसे ज्यादा वोट दिए थे और अब मिडिल क्लास ही इन वादों के कारण सबसे ज्यादा ठगी हुई नजर आ रही है. ऐसे में साल 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की ये जुमलेबाजी नहीं चलने वाली है.

महंगाई का मुद्दा

देश में महंगाई का मुद्दा काफी वक्त से बना हुआ है. लोगों का कहना है कि मोदी सरकार के पांच सालों में उनकी कमाई पर कोई असर नहीं पड़ा है. उनकी आमदनी अट्ठनी और खर्चा रुपया वाली स्थिति आज भी मौजूद है. खास तौर पर महंगाई की मार मिडिल और लॉअर लोगों को ज्यादा पड़ती है. साल 2014 के लोकसभा चुनाव में महंगाई के मुद्दे को ही हथियार बनाकर बीजेपी की सरकार केंद्र की सत्ता में आई थी लेकिन अब साल 2019 का लोकसभा चुनाव आने वाला है और मिडिल क्लास के लोग आज भी महंगाई की मार झेल रहे हैं. साथ ही लोगों पर टैक्स का भार भी काफी ज्यादा है. ऐसे में महंगाई के मुद्दे पर इस बार बीजेपी के कोर वोट मिडिल क्लास के लोगों के वोट कट सकते हैं.

योगी आदित्यनाथ होंगे देश के अगले प्रधानमंत्री? नरेंद्र मोदी को लगा जोरदार झटका! योगी बीजेपी का नया पीएम चेहरा?

एससी/एसटी एक्ट का विरोध

एससी/एसटी एक्ट में हुए संशोधन का विरोध देश के कई हिस्सों में हो रहा है. लोगों का कहना है कि एससी-एसटी एक्ट के कारण केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के विरोध में अध्यादेश लाकर सवर्णों को प्रताड़ित करने का काम किया है. जिसके कारण एक बड़े स्तर पर लोग मोदी सरकार से कटे हैं. साथ ही इस एक्ट का विरोध लोकसभा चुनाव तक चलने की संभावना है. जिसके कारण बड़े स्तर पर मोदी सरकार के वोट कट सकते हैं और ये वोट मिडिल क्लास के ही होंगे.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि आप 2019 के लोकसभा चुनाव में किस पार्टी को जीतवाना चाहते हैं?

(Visited 112 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :