मोदी का बड़ा ऐलान! हर बैंक खाते में आने वाले हैं 15 लाख रुपए?

साल 2014 के लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने कहा था कि उनकी सरकार बनने के बाद सभी लोगों के खाते में 15-15 लाख रुपए आएंगे. मोदी ने कहा था कि सरकार बनने के बाद वे कालाधन वापस लेकर आएंगे और सभी के खातों में रुपया ट्रांसफर किया जाएगा. पीएम मोदी के जरिए वादा पूरा नहीं किए जाने पर विपक्षी दल ने खूब निशाना साधा. अब केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने पीएम के वादे के बारे में बयान जारी किया है. दरअसल, महाराष्ट्र के सांगली में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रामदास आठवले ने सभी के खाते में 15-15 लाख रुपए आने का मुद्दा उठाया.

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि लोगों के बैंक खातों में एक बार नहीं बल्कि ‘धीरे-धीरे’ 15 लाख रुपये आएंगे. अठावले ने कहा कि इससे पहले भी आश्वासन दिए गए थे लेकिन इसको लेकर तकनीकी दिक्कतें थी. उन्होंने कहा कि सरकार के पास इतना धन नहीं है और उसने भारतीय रिजर्व बैंक से राशि की मांग की थी लेकिन वह कहना नहीं मान रहे. अठावले ने कहा कि 15 लाख रुपये एक ही बार में नहीं आएंगे. यह धीरे-धीरे आएगा. सरकार के पास इतनी राशि नहीं है और उसने रिजर्व बैंक से धन मांगा था लेकिन वह धन नहीं दे रहा. हां, इसको लेकर आश्वासन दिया गया था लेकिन इसमें कुछ तकनीकी दिक्कते हैं,

सामाजिक न्याय राज्य मंत्री, विदेशी बैंकों में पड़े काले धन को वापस लाने के नरेंद्र मोदी के वादे को लेकर पूछे गए एक सवाल का जवाब दे रहे थे. मोदी ने 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान प्रमुखता से काले धन का मुद्दा उठाते हुए इसे वापस लाने का वादा किया था. अठावले ने प्रधानमंत्री मोदी को सक्रिय प्रधानमंत्री बताते हुए कहा कि भाजपा नीत एनडीए 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करेगा और मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनेंगे. अठावले की रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया (अठावले) भाजपा सरकार में सहयोगी पार्टी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इससे पहले कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से धोखा किया है, गांधी का दावा था कि मोदी ने प्रत्येक साल दो करोड़ रोजगार मुहैया कराने और लोगों के खातों में 15 लाख रुपये जमा करने का वादा पूरा नहीं किया.

कर्नाटक विधानसभा में लड़कियों की फोटो देख रहे थे बीएसपी नेता और फिर जो हुआ..

साथ ही उन्होंने कहा कि राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में भाजपा की चुनावी हार का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से कुछ लेना-देना नहीं है, वे अपने वादों को पूरा करने की तैयारी ही कर रहे हैं. उन्होंने कहा भाजपा और उसकी सहयोगी पार्टियां तीन राज्यों में मिली हार पर विचार कर रही हैं. 2019 में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए एक बार फिर सरकार बनाएगी. वहीं विपक्षी पार्टियां सीटों के बंटवारे और प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार को लेकर भ्रमित हैं. अठावले ने आगे कहा मैं शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे से सेना सुप्रीमो बाल ठाकरे के सपनों को पूरा करने की अपील करता हूं. उन्हें अकेले चुनाव लड़ने के बारे में नहीं सोचना चाहिए. साथ ही कांग्रेस को इस धारणा में नहीं रहना चाहिए कि केवल राफेल सौदे को उठाकर वह 2019 का चुनाव जीत लेगी. भाजपा ने जनता के लिए बहुत कुछ किया है और जनता सब जानती है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं आपको क्या लगता है बैंक खाते में 15 लाख रुपए डाले जाएंगे या फिर लोगों को 15 लाख का बहाना सुना कर बीजेपी वाले फिर से वोट जुटाना चाहते हैं.

(Visited 561 times, 1 visits today)

आपके लिए :