लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने अपने फायदे के लिए पाकिस्तान से मिलाया हाथ?

लोकसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी ने अपने फायदे के लिए पाकिस्तान से मिलाया हाथ?
14 फरवरी 2019 को देश में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ था. जम्मू कश्मीर के पुलवाना में जैश-ए-मोहम्मद के आंतकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. आरोप है कि जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों को पाकिस्तान ने पनाह दी हुई है. जिसके बाद से ही भारत में पाकिस्तान और आतंकियों को लेकर गुस्से का माहौल है. पुलवामा में हुए उस हमले का बदला लेने के लिए भारत ने पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में एयर स्ट्राइक भी की. हालांकि अब लोकसभा चुनाव 2019 से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान को शुभकामनाएं दी है. अभी तक पुलवामा हमले में शहीद हुए जवानों का दर्द सीने से उतरा भी नहीं था, ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर पीएम मोदी ने किस मंशा से पाकिस्तान को शुभकामनाएं दी है. क्या पीएम मोदी ने एक बार फिर से पाकिस्तान के साथ हाथ मिला लिया है? आइए जानते हैं आखिर पीएम मोदी ने पाकिस्तान को लेकर चुनावों से पहले ऐसा नरम रवैया क्यों अपनाया? लेकिन दोस्तों, उससे पहले अगर आप भी कैमरे से अपना वीडियो बनाना चाहते हैं और पूरे दुनिया को अपना हुनर दिखाना चाहते हैं, साथ में अच्छे पैसे भी कमाना चाहते हैं तो हम आपके लिए एक सुनहरा मौका लेकर आए हैं. इसके लिए आपको सिर्फ 30 सेकंड में अपना एक इंट्रोडक्शन वीडियो बनाना होगा, जिसमें आपको अपने बारे में हमें बताना होगा. आप अपना 30 सेकंड का वीडियो बनाकर हमें डिस्क्रिप्शन में दिए गए लिंक पर भेज सकते हैं. दोस्तों, जिन प्रतिभागियों का वीडियो सबसे अच्छा होगा, उन्हें हमारी टीम कॉल करेगी और फिर सेलेक्टेड लोग घर बैठे वीडियो बनाकर एक मोटी कमाई कर सकते हैं. तो दोस्तों, देर किस बात की जल्द ही हमें अपना वीडियो डिस्क्रिप्शन में दिए गए लिंक पर भेजें. ताकी आप इस मौके से चूक न जाएं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस की पूर्व संध्या पर संदेश भेजकर पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान और वहां के लोगों को शुभकामनाएं दीं. आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक अपने संदेश में प्रधानमंत्री ने कहा कि वक्त आ गया है कि उपमहाद्वीप के लोग आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण में लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण, प्रगतिशील और समृद्ध क्षेत्र के लिए मिलकर काम करें. मोदी का यह संदेश पुलवामा हमले के बाद परमाणु संपन्न दोनों पड़ोसी देशों के बीच संबंधों में आए जबरदस्त तनाव के बीच आया है. पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादी ठिकाने पर हवाई कार्रवाई की थी. वहीं भारत ने नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग में देश के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम का बहिष्कार किया था. भारत ने कार्यक्रम में जम्मू कश्मीर से कई अलगाववादी नेताओं को आमंत्रित किए जाने पर विरोध भी जताया था. दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि पीएम मोदी को पाकिस्तान से बातचीत करनी चाहिए या नहीं करनी चाहिए. दूसरी तरफ इमरान खान ने भी प्रधानमंत्री मोदी के संदेश पर ट्वीट किया. इमरान खान ने कहा, 'प्रधानमंत्री मोदी का संदेश मिला, जिसमें लिखा है: मैं पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस के अवसर पर देश की जनता और बधाई और शुभकामनाएं देता हूं. यह वक्त है जब उपमहाद्वीप के लोग आतंक और हिंसा से मुक्त वातावरण में लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण, प्रगतिशील और समृद्ध क्षेत्र के लिए मिलकर काम करें.'