क्या चल रहा है ?
गूगल पर ये बात बिल्कुल भी न करें सर्च, हो सकती है जेल! | ट्रंप भी खड़े होकर ताली बजाने लगे - आखिर मोदी ने ऐसा क्या बोला - Howdy Modi | टूरिज्म के लिहाज से बिहार का गया क्यों बन चुका है इतना खास? | घर बैठकर आसानी से कैसे बुक करें फ्लाइट टिकट?... | घर बैठकर ऑनलाइन कैसे बुक करें रेल टिकट? | जानिए 2019 Honda Activa 125 कैसी है? | BCA-MCA करने से क्या फायदा है? | कुछ लोग बाएं हाथ का इस्तेमाल क्यों करते हैं? | क्या है परिवहन से जुड़ी हाइपरलूप तकनीक... | बॉलीवुड को मिली दूसरी लता मंगेशकर, गरीबी में कुछ ऐसी थी रानू मंडल की जिंदगी | क्या है 5G तकनीक? कैसे करती है काम? | सिर्फ 5 लाख रुपये से CCD के मालिक सिद्धार्थ ने कैसे खड़ा किया अरबों का कारोबार? | पाकिस्तानी दुश्मन के हाथ की घड़ी का वक्त भी देख लेगा भारत का ये सैटेलाइट | अनुच्छेद 370: अमित शाह ने इस बड़े कारण से लद्दाख को कश्मीर से अलग किया? | प्रधानमंत्री 15 अगस्त को लाल किले पर ही क्यों फहराते हैं तिरंगा? | भारत को 15 अगस्त 1947 की रात 12 बजे ही आजादी क्यों मिली? | पाकिस्तान 15 अगस्त को आजाद हुआ लेकिन 14 अगस्त का क्यों मनाता है स्वतंत्रता दिवस? | बिहार के रवीश कुमार ने नरेंद्र मोदी की बोलती की बंद! मिला रेमन मैग्सेसे अवार्ड | चांद पर एलियन का पता लगाएगा भारत का चंद्रयान-2? | चंद्रयान-2: अगर भारत को चांद पर मिली ये चीज तो दुनिया पर करेगा राज |

आतंकी संगठनों की मदद के लिए पाकिस्तान भारत में Fake Currency भेजवाने की तैयारी कर चुका है

एक नई खबर सामने आई है। एक मीडिया एजेंसी के अनुसार अब की बार पाकिस्तान ने लश्क र-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मटद जैसे आतंकी संगठनों की मदद करने के इरादे से उन्हें फंडिंग देने का मन बनाया है।

भारत के खिलाफ साजिश करने की पाकिस्तान की एक पुरानी आदत है। लेकिन हर बार ही उसे भारत की तरफ से मुंह तोड़ जवाब मिला है। बेशक ये उसकी युद्ध की योजना हो या भारत के अंदर किसी भी तरह की गड़बड़ी फैलाने की साजिश। दोस्तों, इसी बीच एक नई खबर सामने आई है। एक मीडिया एजेंसी के अनुसार अब की बार पाकिस्तान ने लश्‍कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्‍मद जैसे आतंकी संगठनों की मदद करने के इरादे से उन्हें फंडिंग देने का मन बनाया है। हालांकि ये काम वो पहले से करते आ रहा है। अगर 8 नवम्बर 2016 की वो रात आपको याद हो जब पीएम नरेंद्र मोदी ने एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए नोटबंदी का ऐलान किया था।

दरअसल, उस वक़्त 500/- और 1000/- रुपये के नोटों को बंद करने के पीछे सरकार का मकसद काले धन पर लगाम लगाना था। इस फैसले के बाद सिर्फ पूरे भारत में ही खलबली नहीं मची थी। बल्कि पाकिस्तान तक में बूचाल आ गया था, जिसका कारण था पाकिस्तान में तैयारी होने वाली नकली भारतीय मुद्रा। उस दौरान पाकिस्तान में बड़ी तदात में fake currency का धंधा चौपट हो गया था।

लेकिन पाकिस्तान एक बार फिर यही जुर्म करने जा रहा है। जिसके लिए वो पहले से ज्यादा तैयारी करके बैठा है। जानकारी है कि इस बार पाकिस्‍तान Indian Currency के नए नोटों की हूबहू नकल बना चुका है। साथ ही फंडिंग के लिए जाली नोटों का उत्‍पादन और उसकी तस्‍करी करने का काम शुरू कर दिया है। भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था को ठेस पहुंचाने के लिए अब पाकिस्तान नकली नोटों की तस्‍करी करने वाले गिरोहों, चैनलों और रास्‍तों का प्रयोग कर रहा है। वैसे बता दें कि भारत तक इन नकली Currency को भेजवाने के लिए नेपाल और भारत के सीमा वाला बीरगंज नाम का क्षेत्र इनका मुख्य ठिकाना है।

पाकिस्तान की आतंकी संगठनों की मदद और उनकी फंडिंग के प्रति चिंता इस बात से स्पष्ट होती है कि कुछ वक़्त पहले खुद पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने आतंकी हाफिज सईद के बैंक खातों पर लगी रोक को हटाने की मांग की थी। जिसे वैशविक आतंकवादी घोषित किया जा चुका है। अब पाकिस्तान लश्‍कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मुहम्‍मद जैसे आतंकी संगठनों के प्रति भी भावुक नज़र आ रहा है। फंडिंग के इस लक्ष्य को पाने के लिए व नेपाल, बांग्लादेश और अन्य देशों में इसके बटवारे के लिए पाकिस्तान अपने राजनयिक चैनलों का इस्‍तेमाल कर रहा है।

इस खबर में हैरान करने वाली बात यह भी है कि इस पूरे मिशन का जिम्मा खुद वहां की खुफिया एजेंसी ISI ने संभाला हुआ है। जिसने काठमांडू से बीरगंज तक के सभी Borders पर अपने एजेंट बैठा रखे है। यानि एक पूरा setup तैयार कर रखा है। जानकारी के अनुसार इन नोटों की छपाई का काम कराची में बने 'पाकिस्तान के सिक्‍योरिटी प्रेस में हो रहा है। इस काम में पहली बार ऑप्टिकल वेरियबल इंक का प्रयोग हुआ है। दोस्तों, बता दें कि ये ink 2000/- रुपये के नोट के धागे पर इस्तेमाल होती है। ऐसा इसीलिए हुआ है ताकि इन्हें काफी हद तक असली नोट जैसा बनाया जा सके।

हालांकि पाकिस्तान जितनी मर्जी कोशिश करें, लेकिन इस खबर के सामने आने से भारतीय मुद्रा बाज़ार भी अलर्ट हो गया होगा। उम्मीद की जा सकती है कि देश की सरकार और Reserve Bank Of India यानि RBI इसपर ज़रूर कोई न कोई ऐसा दाव खेलेंगे की पाकिस्तान की सारी चाल उल्टा उसपर ही भारी पड़ जाएंगी।

***********