Home Facts कुत्ता समझ के पाल रहे थे, सच्चाई सामने आई तो पैरों तले खिसकी जमीन..

कुत्ता समझ के पाल रहे थे, सच्चाई सामने आई तो पैरों तले खिसकी जमीन..

by GwriterP

घर में जानवर पालने का शौक पूरी दुनिया में बहुत आम है। बड़ी संख्या में लोग अपने घरों में कुत्ते, बिल्ली और भी कई तरह प्रकार के पशु पक्षी पालते हैं। कुछ लोग जानवर खरीदते हैं तो कुछ सड़क पर घूम रहे बेसहारा जानवरों को सहारा देते हैं। चीन में कुछ इसी प्रकार का काम एक पशु प्रेमी ने भी किया। पहाड़ों पर घूमते हुए उन्हें एक कुत्ते का बच्चा भटकता हुआ दिखाई दिया। उस शख्स ने उसे उठाया और अपने घर ले आए लेकिन हकीकत सामने आने पर शरीर में सिरहन दौड़ गई और पैरो तले जमीन खिसक गई।

जिस जानवर की मासूमियत को देखकर चीनी शख्स ने उसे घर ले जाने का फैसला किया था। घर जाते ही उसकी हरकतें उसे कुछ अजीब लगना शुरू हो गई। पिल्ला घर में ही दो पैरों पर चलने लगा था।फिर भी चीनी नागरिक को पिल्ले की भनक तक नहीं लगी। 8 महीने तक वह चीनी परिवार के साथ ही रहा लेकिन कुछ ही दिनों में उसका वजन 80 किलोग्राम से भी ज्यादा हो गया। पिल्ले का इतना वजन होना मुश्किल लगता है।

कुत्ते का बच्चा बड़ा होने के बावजूद भौंकता नहीं था। दो पैरों पर चलता था और ढेर सारा खाना खाना शुरू कर दिया था। उसने खुद से जांच पड़ताल की तो उसे समझ में आया कि यह दरअसल भालू का बच्चा है।भालू के बच्चे को खुला छोड़ने के बजाय चीनी शख्स उसे पिंजरे के भीतर रखने लगा। लेकिन यह बात किसी तरह चीन के वन विभाग तक पहुंच गई, जिसके बाद बड़ा बवाल हो गया

उन्होंने भालू को कब्जे में लिया और उसे सुरक्षित तरीके से जंगल में छोड़ आए अपने पालतू जानवर को जंगल में भेजने के बाद दुखी चीनी नागरिक ने मीडिया को बताया कि भालू काफी दोस्ताना व्यवहार रखता था। वह उसे अपने हाथ से खाना खिलाता था, नहलाता था और घूमने भी ले जाता था। जब भालू अपने दो पैरों पर चलने लगा तो मुझे संदेह हुआ कि यह कुत्ते का पिल्ला तो नहीं है।  

Related Articles

Leave a Comment