पैन कार्ड से जुड़ा बड़ा नियम बदल गया, जान लो वरना सरकार आपको धर लेगी!

एक बड़ी रकम के लेन देन के लिए आज भारत में पैन कार्ड का काफी इस्तेमाल किया जाता है. बिना पैन कार्ड के कई दिक्कतों का सामना भी करना पड़ सकता है. हालांकि अब पैन कार्ड से जुड़े कुछ बड़े नियम बदल चुके हैं. इसे जानकर आप हैरान भी रह सकते हैं. दरअसल पहले पैन कार्ड बनवाने के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था. पैन कार्ड के लिए आवेदन करने के कुछ हफ्तों बाद पैन कार्ड हासिल होता था. लेकिन अब पैन कार्ड का एक बड़ा नियम बदल दिया गया है. जिसकी मदद से 4 घंटे में पैन कार्ड दिया जा सकेगा.

जी हां, आपने बिल्कुल सही सुना. अब 1 या 2 दिन नहीं बल्कि आप महज चार घंटे में पैनकार्ड बनवा सकते हैं. जल्द ही इनकम टैक्स विभाग आपको 4 घंटे में पैन कार्ड दे देगा. विभाग ने पैन कार्ड को जल्दी जारी करने की योजना बनाई है. मौजूदा समय में पैन कार्ड बनने में दस दिन लग जाते हैं. कई बार तो दिन ज्यादा भी हो जाते हैं लेकिन अब इस झंझट से छुटकारा मिल सकता है. हालांकि इतना जल्दी पैन कार्ड बनवाने के लिए आधार कार्ड की जरूरत होगा. आधार कार्ड की पहचान देने के बाद पैन कार्ड सिर्फ 4 घंटे में ही बन जाएगा. इसके लिए विभाग की ई-पैन कार्ड नाम की सुविधा भी है. इसके जरिए आपको बस अपना आधार नंबर ही बताना होगा और चंद मिनटों में आपको ई-पैन जारी कर दिया जाता है. ये सुविधा आयकर विभाग की वेबसाइट पर मौजूद है. हालांकि इसमें आपको एक बात ध्यान में रखनी होगी कि आपके आधार नंबर से आपको मोबाइल नंबर जुड़ा होना चाहिए.

इसके साथ ही पैन कार्ड से जुड़े कुछ नियमों में फिर से बदलाव किए गए हैं. समय की मांग को देखते हुए इन मांगों को जायज भी ठहराया जा सकता है. इन बदलावों में एक बदलाव यह भी है कि अगर किसी आवेदन देने वाले के माता-पिता अलग हो गए हैं तो अब पैन कार्ड में पिता का नाम देना अनिवार्य नहीं होगा. जिसका मतलब है कि अब पिता का नाम दिए बगैर सिर्फ माता के नाम से ही काम चल जाएगा. इसके पहले पैन कार्ड के लिए आवेदन करने वाले फॉर्म में पिता के नाम का कॉलम होता था लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब पिता के नाम के कॉलम के अलावा माता के नाम का कॉलम भी पैन कार्ड के लिए आवेदन करने वाले फॉर्म में दिया जाएगा.

वहीं पिछले कुछ सालों में देखा गया था कि लोग बिना पैन कार्ड के ही लाखों का लेनदेन कर लेते थे लेकिन अब लोग ये मनमानी नहीं कर सकते हैं. सरकार इसको लेकर अब सख्त हो चुकी है. ऐसे में अगर एक वित्तवर्ष में कोई ढ़ाई लाख रुपए से अधिक का ट्रांजैक्शन करता है तो उसको भी अब पैन कार्ड का आवेदन अनिवार्य तौर पर करना होगा. वहीं आम आदमियों से लेकर काराबारियों तक के लिए पैन कार्ड के नए नियम बना दिए गए हैं. अगर अब किसी कारोबारी या कंपनी का एक वित्तवर्ष के दौरान कुल बिक्री या प्राप्ति पांच लाख से अधिक नहीं है तब भी उनको पैन कार्ड लेना होगा. आयकर रिटर्न भरने के लिए पैन कार्ड की जरूरत होती है. ऐसे में अगर आप बिना पैन कार्ड के अब तक मोटी रकम का लेन देन करते थे तो अब आपको संभल जाना चाहिए. वरना सरकार आप पर शिंकजा कस सकती है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं पैन कार्ड के ये नए नियम आपको कैसे लगे ?

(Visited 72 times, 1 visits today)

आपके लिए :