एपीजे अब्दुल कलाम की वो बातें जो पीएम मोदी अपना लें तो देश की किस्मत बदल सकती है

पीएम मोदी की योजनाओं और उनके काम करने के तरीके से विदेशों के कई बड़े नेता भी तारीफ करते हैं. देश ही महिलाओं से लेकर युवाओं तक पीएम मोदी का जोश देखने को मिलता है. इतने के बाद भी कुछ ऐसी चीजें हैं जो पीएम मोदी पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के व्यक्तित्व से सीखकर अपने में शामिल कर लें तो देश को कहीं ज्यादा तेजी से विकसित बना पाएंगें. अब्दुल कलाम उन महापुरुषों में से हैं जिनके बताए रास्ते पर देश की आने वाली पीढ़ी चलेगी तो बहुत तेजी से इस देश का विकास होता जाएगा. अब्दुल कलाम ने तकनीक से लेकर पर्सनैलिटी डवलपमेंट तक कई ऐसी बात कहीं और लिखी है जिनके लिए उन्हें हमेशा याद किया जाएगा. ऐसे में यहां जानिए की पीएम मोदी को अब्दुल कलाम से क्या सीखना चाहिए.

तकनीक

डिजिटल इंडिया की गिनती पीएम मोदी के सबसे महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट्स में होती है. ऐसे में इस मिशन को पूरा करने के लिए पीएम मोदी को अब्दुल कलाम से काफी सारी चीजें सीखना चाहिए. डिजिटल इंडिया मिशन को पूरा करने के लिए फेसबुक, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसी कलाम की आदतों को पीएम मोदी को भी अपनाना चाहिए. कलाम ने दुनिया भर के छात्रों से बातचीत की. कई आईआईटी, आईआईएम समेत विदेशों में कॉलेज और यूनिवर्सिटी में गए, काफी सारा समय छात्रों के बीच वक्त भी गुजारा. ऐसे में उन्होंने युवाओं से संपर्क करने के लिए तकनीक का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया.

अब अगर पैकेट बंद चीज खरीदी तो आपको उम्र भर के लिए पछताना पड़ सकता है

फेसबुक और वीडियो कन्फ्रेंसिंग

काई सारी सफलतओं की कहानी कलाम अपने फेसबुक पेज से शेयर किया करते थे. इससे युवाओं को काफी प्रेरणा मिलती थी. इसके साथ ही 2012 में कलाम ने फेसबुक पर भ्रष्ट लोगों के लिए व्हाट कैन आई गिव नाम का आंदोलन भी शुरू किया था. पीएम मोदी को इससे सीख लेकर ऐसी शुरुआत करनी चाहिए जिससे वो देश के युवाओं की हौसलाअफजाही कर सकें. इसके साथ ही कलाम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग का इस्तेमाल भी एक तकनीकी शस्त्र के रूप में किया है.

2020 के लिए काम का नजरिया

कलाम अपने विजन 2020 के लिए दुनिया भर में मशहूर हैं. कलाम का सपना था कि 2020 तक भारत के पास तकनीक हो. 1999 से 2001 तक कलाम ने भारत के प्रिंसिपल साइंस एडवाइजर के तौर पर काम किया. इस दौरान उन्होंने विज्ञान, कला, एग्रीकल्चर, हॉर्टीकल्चर से लेकर एजूकेशन तक हर क्षेत्र में विकास के लिए काफी सारी गाइडलाइंस तैयार की. ऐसे में पीएम मोदी को उनके इस नजरिये से भी काफी कुछ सीखना चाहिए.

प्रेम

कलाम सबसे ज्यादा अपने व्यवहार के लिए जाने जाते हैं. वहीं पीएम मोदी की बात करें तो देश भर में उनकी एक हिंदू कट्टर नेता की छवि हैं. ऐसे में मोदी को कलाम से हर किसी को अपना बनाने का जादुई गुण जरूर सीख लेना चाहिए. इससे ना सिर्फ उनकी कट्टर छवि बदलेगी बल्कि देश भर के लोगों को एक बार फिर से कलाम जैसा नेता मिल जाएगा.

डिफेंस में मजबूती

डिफेंस किसी भी देश के लिए उसी रीढ़ की हड्डी होता है. कलाम का सपना था कि उनके देश अपने डिफेंस के ताकत से देश की आंखों में आखें मिलाकर बात कर सके. किसी को भी देश की डिफेंस ताकत पर जरा भी संशय न रहे. पीएम मोदी को देश को विकासशील से विकसित बनाने के लिए कलाम की इस नजरिए से भी काफी कुछ सीखना चाहिए. देश के लिए डिफेंस के क्षेत्र में कलाम ने काफी कुछ किया.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि नरेंद्र मोदी किस राज्य के मुख्यमंत्री रह चुके हैं?

(Visited 26 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :