योगी आदित्यनाथ होंगे देश के अगले प्रधानमंत्री? नरेंद्र मोदी को लगा जोरदार झटका! योगी बीजेपी का नया पीएम चेहरा?

साल 2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक है. सत्ताधारी बीजेपी और कांग्रेस के बीच इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में कड़ी टक्कर देखने की उम्मीद की जा रही है. क्योंकि कांग्रेस ने हाल ही में राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में बीजेपी का किला ढहा दिया था और तीनों राज्यों में सरकार बनाई. इसके साथ ही लोकसभा चुनाव से पहले बीजेपी सरकार बैकफुट पर आ गई है. इसका असर लोकसभा चुनाव पर भी देखा जा सकता है. साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में इस बार बीजेपी के लिए पूर्ण बहुमत हासिल करना टेढ़ी खीर के समान देखा जा रहा है. साथ ही तीन राज्यों में बीजेपी की हार के बाद लोग इसे नरेंद्र मोदी का लोगों के बीच घटते जादू के तरह भी देख रहे हैं. वहीं लोगों में अब नरेंद्र मोदी को लेकर क्रेज भी कम होता जा रहा है और हो सकता है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में अगर बीजेपी अपनी सरकार फिर से बनाती है तो नरेंद्र मोदी से प्रधानमंत्री की कुर्सी छिनी भी जा सकती है.

देखें वीडियो:

जी हां दोस्तों, अंदेशा जताया जा रहा है कि अगर लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी की वापसी होती है तो प्रधानमंत्री की कुर्सी नरेंद्र मोदी को न सौंपकर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सौंपी जा सकती है. मतलब की 2019 में लोग महंत योगी आदित्यनाथ को प्रधानमंत्री के रूप में देख सकते हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि एक तरफ लोगों में जहां नरेंद्र मोदी का क्रेज घटता जा रहा है तो दूसरी तरफ योगी का क्रेज बढ़ता जा रहा है. उत्तर प्रदेश में लगे कुछ पोस्टर भी इसकी गवाही देते हैं. दरअसल, आगरा में लगे कुछ होर्डिंग चर्चा में बने हुए हैं. आगरा की सड़कों पर नवनिर्माण सेना के लोग सीएम योगी आदित्‍यनाथ को प्रधानमंत्री के तौर पर प्रोजेक्ट कर रहे हैं. अचानक लगे होर्डिंगों ने सबका ध्यान आकर्षित किया है. होर्डिंग नवनिर्माण सेना के प्रमुख अमित जानी ने शहर के प्रमुख चौराहों के साथ कई स्थानों पर लगवाए हैं. होर्डिंग में लिखा है, ‘जिस तरह से फैजाबाद जिले का नाम बदलकर योगी ने अयोध्या किया है उससे हमारे आराध्य भगवान श्री राम का जिला अब अयोध्या हो गया है, इसलिए त्रेता के अवतार श्री राम थे और कलियुग के अवतार योगी हैं.’

लग गया झटका, फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ को लेकर बड़ा खुलासा?

इसके अलावा भी एक मामला काफी चर्चा में रहा था. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने एक पोस्टर लगाया जिस पर उन्होंने ‘योगी फॉर पीएम’ लिखा है. पांच राज्यों में भाजपा की पराजय के बाद चुनावी नतीजों को लेकर पार्टी में सन्नाटा पसरा हुआ था तो वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने इस तरह का पोस्ट लगाकर खूब सुर्खियां बटोरी थी. उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना ने जो पोस्ट लगाया था उस पर लिखा था ‘जुमलेबाजी का नाम मोदी वर्सेज हिंदुत्व का ब्रांड योगी’.

इन पोस्टर्स के जरिए साफ जाहिर होता है कि लोगों में योगी को प्रधानमंत्री बनाने की चाह जागने लगी है. लेकिन मामला यहीं खत्म नहीं होता है. हाल ही में खत्म हुए पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम भले ही बीजेपी की उम्मीदों के मुताबिक न रहे हों, लेकिन इसने योगी आदित्यनाथ को भाजपा के दूसरे सबसे ज्यादा स्वीकार्य चेहरे के रूप में स्थापित कर दिया. दरअसल, इन चुनावों में योगी आदित्यनाथ की रैलियों की सभी राज्यों में खूब डिमांड रही. उन्होंने पांचों राज्य मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम और तेलंगाना के चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी ज्यादा रैलियों और चुनावी सभाओं को सम्बोधित किया. वे जहां भी चुनाव प्रचार के लिए गए, लोगों का हुजूम उन्हें देखने-सुनने के लिए उमड़ पड़ा. ऐसे में कहना गलत नहीं होगा कि योगी के कारण मोदी की पीएम कुर्सी पर तलवार लटक चुकी है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि 2019 में आप प्रधानमंत्री के चेहरे के रूप में नरेंद्र मोदी को देखना चाहते हैं या योगी आदित्यनाथ को देखना चाहते हैं?

(Visited 249 times, 3 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :