बृहस्पति ग्रह के बारे में ये जानकारियां आपको हैरान कर देंगी, कभी नहीं सुने होंगे ये राज

सूर्य से 5वां और हमारे सौरमंडल का सबसे बड़ा ग्रह बृहस्पति है. इस ग्रह को दानव भी कहा जाता है. इस ग्रह का रंग पीला होता है और अंग्रेजी में ज्यूपिटर भी कहते हैं. बृहस्पति ग्रह सबसे पुराने ग्रहों में से एक है. बृहस्पति के जरिए पृथ्वी की उत्पति के बारे में पता लगाया जा सकता है. बृहस्पति का मैग्नेटिक फील्ड बहुत मजबूत होता है. यदि हम बृहस्पति के सतह पर खड़े हो जाए तो हमारा वजन अपने असली वजन से 3 गुना ज्यादा होगा. लेकिन क्या आप बृहस्पति के बारे में रोचक बातों को जानते हैं …? आइए जानते हैं इसके बारे में…

पानी

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिक को बृहस्पति पर पानी होने का प्रमाण मिला है. बृहस्पति ग्रह के ग्रेट रेड स्पॉट का अध्ययन करते समय उन्हें यहां पानी होने का संकेत मिला. वैज्ञानिकों का कहना है कि कार्बन मोनोऑक्साइड के यहां मौजूद होने से इस बात का पता चलता है कि यहां सूरज के मुकाबले 2 से 9 गुना ज्यादा ऑक्सीजन है. नासा का स्पेसक्राफ्ट जुनो इससे जुड़े डाटा को जोड़ने में लगा है. जुनो नासा का लेटेस्ट स्पेसक्राफ्ट है जो ग्रहों पर पानी ढूंढने का काम करता है जो कि गेस के फॉर्म में होते हैं.

मल के रंग में छुपा है आपकी सेहत का राज, इस कलर की पॉटी को न करें नजरअंदाज

जीवन

अगर इस ग्रह के वायुमंडल का ध्यान से अवलोकन किया जाए तो यह पाया जाता है कि जितना नीचे की ओर जाएंगे, तापमान गर्म होता जाएगा. इसके सतह का तापमान 21॰ C है और वायुमंडल का दबाव पृथ्वी से 10 गुना ज्यादा है. वैज्ञानिक ऐसा मानते हैं कि अगर इस ग्रह पर जीवन की संभावना हुई तो वह हवा के माध्यम से संभव हो सकेगा. अभी तक के खोजों के हिसाब से इस ग्रह पर जीवन के कोई संकेत नहीं मिले हैं.

गैसीय ग्रह

बृहस्पति ग्रह एक गैसीय ग्रह है जो कि हमारे सौरमंडल के चार गैसीय ग्रहों में सबसे बड़ा है. बृहस्पति ग्रह हमारे आसमान में चमकने वाली चौथी सबसे चमकीली वस्तु है जो कि पृथ्वी से सूर्य, चंद्रमा, और शुक्र ग्रह के बाद सबसे ज्यादा चमकती है.

आकार में बड़ा

बृहस्पति ग्रह मुख्य रूप से गैस और तरल पदार्थों का बना हुआ है इस के वातावरण में लगभग 90 फीसदी हाइड्रोजन है और 10 फीसदी हीलियम है. बृहस्पति ग्रह हमारी पृथ्वी से बहुत बड़ा है इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि बृहस्पति ग्रह में 1321 पृथ्वियां समा सकती हैं.

तेज ग्रह

बृहस्पति ग्रह अपनी धुरी पर 10 घंटे से भी कम समय में एक चक्कर पूरा कर लेता है और इसी के साथ यह हमारे सौरमंडल का सबसे तेज घूमने वाला ग्रह भी है. यह अपनी धुरी पर तकरीबन 9 घंटे 55 मिनट और 40 सेकंड में एक चक्कर पूरा कर लेता है.

छोटे पिंड

बृहस्पति ग्रह के 69 कुदरती उपग्रह हैं लेकिन हजारों की संख्या में ऐसे छोटे-छोटे पिंड भी इसका चक्कर लगा रहे हैं जिन्हें उपग्रह का दर्जा नहीं दिया गया है.

द ग्रेट रेड स्पॉट

द ग्रेट रेड स्पॉट नाम का तूफान आकार में बहुत बड़ा है. पहले माना जाता था कि यह तूफान बृहस्पति ग्रह पर हमेशा के लिए रहेगा लेकिन अब आंकड़े यह बताते हैं की इस तूफान का आकार लगातार घटता जा रहा है यह तूफान हर साल 930 किलोमीटर प्रति वर्ष की गति से घट रहा है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं पृथ्वी का आकार कैसा है.

(Visited 19 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :