क्या चल रहा है ?
घर पर क्रिस्पी फ्रेंच फ्राइज बनाने की सीक्रेट रेसिपी | अमित शाह को कौनसी खूबियां बाकी गृहमंत्रियों से अलग बनाती है? | भारतीय सेना के जवान भी इन कुत्तों को सलाम करते हैं...जानिए क्यों | कैसे बनता है खून? शरीर में कमी होने से कैसे बढ़ाएं खून की मात्रा? | बाप रे!! मोदी-शाह भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे? | ओवैसी के बारे में क्या सोचते हैं हैदराबादी मुसलमान? | कैसे बनाई जाती है पेंसिल? | फैक्ट्री में कैसे बनता है टोमैटो केचअप? | आलू चिप्स बनाना है आसान, ये रही पूरी प्रोसेस | नमक कैसे बनता है? समुद्र से लेकर आपके घर तक कैसे पहुंचता है? | अगर ये डॉक्युमेंट नहीं है तो NRC में आपकी नागरिकता जा सकती है | कैसी होती है डिटेंशन कैंप में जिन्दगी? | घुसपैठियों से ये भयानक काम करवाएगी मोदी सरकार? | क्या शरणार्थियों को रोजगार और घर दे पाएगी सरकार? | शरणार्थी और घुसपैठिया में क्या है अंतर? | नागरिकता कानून पर भारत उबल रहा है, कौन है इसके लिए जिम्मेदार? | जामिया में पुलिस ने क्यों की लाठीचार्ज? किस तरफ जा रहा है देश? | मोदी-शाह की जोड़ी फेल, राज्यों में लगातार मिल रही है हार | पाकिस्तान और बांग्लादेश में हिंदुओं की स्थिति कैसी है? | नागरिकता संशोधन कानून पर अमेरिका-पाकिस्तान ने भारत को चेताया |

बाप रे!! मोदी-शाह भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे?

सोशल मीडिया के इस दौर में एक मैसेज और सवाल हम सबको देखने को मिलता ही रहता है कि क्या हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बना देना चाहिए. दरअसल इस सवाल को लेकर कई पक्षों के अलग-अलग विचार हो सकते हैं. कुछ इसके पक्ष में हैं तो कुछ इस ख्याल को ही नकारते हैं. लेकिन दोस्तों क्या आपको पता है, कि अगर भारत को हिंदू राष्ट्र बना दिया तो क्या होगा? साथ ही भारत को हिंदू राष्ट्र क्यों नहीं बनाया जाना चाहिए? चलिए जानते हैं.

दोस्तों, सबसे पहले तो हमें यह समझना होगा कि भारत देश आखिर है क्या? आपको भारत के इतिहास के बारे में बताएं तो यह एक सर्व धर्म समभाव देश है. सर्व धर्म समभाव का मतलब है कि सारे धर्म एक समान हैं. अंग्रेजी में इसे ही सेकुलर कहा गया है. भारत में हर धर्म को सामान अधिकार और समान दर्जा मिला हुआ है. ऐसे में किसी एक धर्म का राज स्थापित करना या प्राथमिकता देना किसी के लिए भी ठीक नहीं है.

भारत देश की आजादी के समय की बात करें तो भी देश को किसी एक धर्म के लोगों ने अंग्रेजों से आजाद नहीं कराया. यह सभी धर्मों का एक साथ किया गया प्रयास था. ऐसे में किसी भी एक धर्म को प्राथमिकता देना अन्य धर्मों के साथ अन्याय है. अब मान लीजिए अगर हिंदुस्तान को हिंदु राष्ट्र बना दिया गया तो बाकी धर्म के लोग कहां जाएंगे. साथ ही हिंदुओं में भी कई वर्ग विभाजित है उन धर्मों को किस तरह से देश में रखा जाएगा.... जैसे कई सारे सवाल खड़े हो जाएंगे.

कुछ लोगों को यह भी मानना है कि मुस्लिम समुदाय के लोगों ने आजादी के बाद जब अपना हिस्सा मांगा तो उन्हें अलग से पाकिस्तान और बांग्लादेश दे दिया गया. इस आधार पर हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाने में क्या हर्ज है. ऐसे में यह सवाल उठता है कि जैसे मुस्लिम देशों को पाकिस्तान बनाकर दे दिया तो क्या बाकी धर्मों के लिए भी भारत को विभाजित कर अलग-अलग देश बनाए जाएंगे. अगर ऐसा हुआ तो देश को डिवाइड कर हिंदू राष्ट्र बनाने का कोई फायदा नहीं है.

अंत में यही स्पष्ट होता है कि भारत को हिंदू देश नहीं बनाया जा सकता है. देश के अलग-अलग राज्यों और सोशल मीडिया पर कितने भी हिंदू राष्ट्र बनाने के नारे लगा लिए जाएं लेकिन ऐसा लॉजिकली संभव नहीं है. हिंदुस्तान हमेशा से हर धर्म को इज्जत देता आया है और अंत तक इज्जत ही देगा. भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना इसलिए भी संभव नहीं है क्योंकि हमारे संविधान में देश को सेकुलर होने की बात कही गयी है. ऐसे में हिन्दू राष्ट्र के लिए हमें संविधान बदलना होगा. हालांकि ऐसा करना देश के लिए ठीक नहीं होगा. तो दोस्तों हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाने का सपना... सपना ही रहे तो ज्यादा बेहतर हैं क्योंकि यह किसी भी दशा में ठीक नहीं है.

दोस्तों यह तो थी हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाने के सपने की हकीकत. दोस्तों जिस देश को सभी धर्मों ने इतने प्यार से मिलकर बनाया है उसे बांटने या किसी एक धर्म के हाथ में देना किसी भी तरीके से ठीक नहीं है. दोस्तो, कमेंट कर आप जरूर बताएं कि हिंदुस्तान को हिंदू राष्ट्र बनाया जाना चाहिए या नहीं?