क्या चल रहा है ?
भारतीय सेना के जवान भी इन कुत्तों को सलाम करते हैं...जानिए क्यों | कैसे बनता है खून? शरीर में कमी होने से कैसे बढ़ाएं खून की मात्रा? | बाप रे!! मोदी-शाह भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे? | ओवैसी के बारे में क्या सोचते हैं हैदराबादी मुसलमान? | कैसे बनाई जाती है पेंसिल? | फैक्ट्री में कैसे बनता है टोमैटो केचअप? | आलू चिप्स बनाना है आसान, ये रही पूरी प्रोसेस | नमक कैसे बनता है? समुद्र से लेकर आपके घर तक कैसे पहुंचता है? | अगर ये डॉक्युमेंट नहीं है तो NRC में आपकी नागरिकता जा सकती है | कैसी होती है डिटेंशन कैंप में जिन्दगी? | घुसपैठियों से ये भयानक काम करवाएगी मोदी सरकार? | क्या शरणार्थियों को रोजगार और घर दे पाएगी सरकार? | शरणार्थी और घुसपैठिया में क्या है अंतर? | नागरिकता कानून पर भारत उबल रहा है, कौन है इसके लिए जिम्मेदार? | जामिया में पुलिस ने क्यों की लाठीचार्ज? किस तरफ जा रहा है देश? | मोदी-शाह की जोड़ी फेल, राज्यों में लगातार मिल रही है हार | पाकिस्तान और बांग्लादेश में हिंदुओं की स्थिति कैसी है? | नागरिकता संशोधन कानून पर अमेरिका-पाकिस्तान ने भारत को चेताया | इसरो की कमाई कैसे होती है? कहां से आता है करोड़ों रुपया ? | विदेशों में भी मोदी मैजिक, मोदी के नाम से चुनाव जीत रहे हैं विदेशी नेता! |

कैसे बनता है मार्केट का दही?

दूध भी क्या कमाल की चीज है. इससे कुछ भी बनाया जा सकता है. दूध से हम मिठाई, पनीर, दही आदि चीजें आसानी से बना सकते हैं. दही के नाम से याद आया... क्या आपको पता है दही कैसे बनती हैं? हम घर की दही की बात नहीं कर रहे हैं. हम बात कर रहे हैं डेयरी वाली दही की, जिसमें मलाई की मोटी परत दही के ऊपर ही मौजूद होती है. चलिए आपको बताते हैं कि मार्केट में दही कैसे बनता है.

दही बनाने के लिए दूध की सबसे ज्यादा जरूरत होती. दही के लिए डेरी वाले फूल क्रीम दूध को पसंद करते हैं. इसमें फेट और दूध के सारे गुण पूरी मात्रा में मौजूद होते हैं. आइए जानते हैं दही बनाने की पूरी प्रक्रिया के बारे में...

दूध को उबालना
डेयरी वाले दूध को सबसे पहले एक बड़े बर्तन में उबालते है, साथ ही अच्छे से खौलाते हैं. दूध में थोड़ा सा पानी डालकर उसे लगातार मिक्स करते रहते हैं.

छानना
दूध को उबालने के बाद, उसे एक साफ और सफेद कपड़े से छाना जाता है, जिससे उसकी अशुद्धियां दूर हो जाएं और दूध साफ हो जाए. सफेद कपड़े का इस्तेमाल इसलिए किया जाता है क्योंकि वह गर्म दूध के कारण अपना कलर नहीं छोड़ता है.

टेस्टिंग
दूध को छानने के बाद उसे एक कंटेनर में रखा जाता है, जो अपनी जगह स्टेबल होता है साथ ही उसमें दूध के तापमान को लगातार मापने की प्रक्रिया जारी रहती है. कंटेनर में रखकर दूध को थोड़ा ठंडा होने दिया जाता है. टेंपरेचर को मापते हुए उसे गुनगुना होने तक ऐसे ही छोड़ दिया जाता है.

दूध फाड़ना
दूध को ठंडा करके उसमें पुरानी गाढ़ी दही डाली जाती है, दही डालते हुए डेयरी वालों के जरिए इस बात का खास ध्यान रखा जाता है कि पुरानी दही को बराबर हर जगह पर डाला जाए मसलन कंटेनर के चारों कोनों में बराबर दही डाली जाती है. इससे दही बराबर जमती है.

ठंडा होने दें
अब दही को 6-7 घंटे तक के लिए छोड़ दिया जाता है. दूध को हम पूरी तरह से ढककर उसे रात भर के लिए करीब 7 घंटे के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ देते हैं. दूध को सुबह उठकर चेक किया जाता है, तो दूध की दही लगभग जमी हुई मिलती है. लेकिन अभी प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है.

डीप फ्रीज
इसमें डेयरी वाले दही को अत्याधिक ठंडा होने देते हैं. इससे दही ठोस हो जाती है और थोड़ा लंबे समय तक चलती भी है. दही को लगभग 3-4 घंटे तक फ्रीजर में रखा जाता है. जब तक दही पूरी तरह नहीं जमती, डेयरी वाले आपको दही नहीं देते हैं. फ्रीज से दही को चार घंटे बाद निकाला जाता है. उसे बाहर निकालकर सामान्य तापमान में रखा जाता है. फिर उसे फ्रीज में ही रख दिया जाता है. इस प्रक्रिया से दही की मलाई पर थोड़ी से नमी आ जाती है.

इन सभी प्रक्रियाओं को करने के बाद दही अब जमकर तैयार है. अब हम या आप इसे मार्केट से खरीद कर अपने मुंह का टेस्ट बढ़ा सकते हैं. दही को जमाने में लगभग 11 घंटे का समय लगता है और यह मुश्किल से 1-2 दिन ही चल पाती है. दोस्तों, कमेंट कर जरूर बताएं कि दही का रंग कैसा होता है?