श्रावण महीने की ये 5 ख़ास बातें जो शायद आपको भी नहीं पता है ?

यह बात तो लगभग हर किसी को पता है कि सावन महीना पूरे साल में सबसे खास और सबसे महत्वपूर्ण मास है। जिसे हम श्रावण का मास या महीना भी कह सकते है। आज हम कुछ ऐसी बातें बताने जा रहे है जिससे आपको यह पता चलेगा कि आखिर यह महीना इतना ख़ास और महत्वपूर्ण क्यों होता है। तो चलिए बात करते है इस टॉपिक पर…

बेहतर Communication Skills के लिए आजमाइए ये 7 आसान टिप्स

1) जानकारी के लिए आपको बता दें कि मरकंडू ऋषि के पुत्र मारकण्डेय ने लंबी आयु के लिए श्रावण के महीने में ही कठिन तपस्या करते हुए भगवान शिव की कृपा प्राप्त की थी, जिससे मिली तंत्र और मंत्र की अद्भुत शक्तियों के सामने मृत्यु के देवता कहे जाने वाले खुद यमराज भी फीके पड़ गए थे।

2) वहीं भगवान महादेव को सावन अर्थात श्रावण के महीने का इतना ख़ास होने की एक वजह यह है कि भगवान शिव शंकर इसी सावन के महीने में पृथ्वी पर अवतार लेकर अपने ससुराल गए थे इस कारण उनका स्वागत भी बड़े अच्छे से जल को अर्घ्य देकर किया गया था। वहीं कुछ मान्यताओं में यह भी माना जाता है कि प्रत्येक वर्ष श्रावण के इस विशेष माह में भगवान भोलेनाथ अब भी अपने ससुराल आते है।

3) साथ ही राजस्थान में जब किसी की शादी की जाती है तो लड़की को पहली बार के सावन के महीने में ससुराल में नहीं रखा जाता है बल्कि उन्हें अपने मायके वालों के पास भेजा जाता है।

महेश मलानी बने पाकिस्तान आम चुनाव 2018 में जीत दर्ज करने वाले पहले हिंदू

4) इसी बीच एक और बात यह भी पौराणिक कथाओं में देखने को मिलती है कि सावन के महीने में ही समुद्र मंथन किया गया था जिसमें विष निकला और उस विष को भगवान शंकर ने पीकर कंठ में एकत्रित किया और सृष्टि की रक्षा की। इस कारण आज हमें भगवान शंकर के जितने भी पेंटिंग देखने को मिलते है वो नीले रंग की देखने को मिलते है क्योंकि इनका कंठ पूरा नीले वर्ण का हो गया था। साथ ही इस माह में शिव लिंग पर जल चढ़ाने से विशेष फल की प्राप्ति भी होती हैं।

5) इन सबके अलावा पौराणिक कथाओं में यह भी वर्णित है कि सावन के महीने में भगवान विष्णु योगनिद्रा में चले जाते हैं। इसलिए ये समय भक्तों, साधु और संतों सभी के लिए अमूल्य होता है। ये चार महीनों में होने वाला एक वैदिक यज्ञ है, जो एक प्रकार का पौराणिक व्रत है, जिसे ‘चौमासा’ भी कहा जाता है।

(Visited 160 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :