लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी का बड़ा गेम प्लान, कांग्रेस को कर देंगे तबाह?

साल 2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक है और ऐसे में अब हालिया मामलों को देखते हुए कांग्रेस बैकफुट पर जाती नजर आ रही है. दरअसल, हाल ही में तीन राज्यों में अपनी सरकार बनाने के बाद कांग्रेस में उत्साह भर गया था लेकिन अब अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर सौदे को लेकर कांग्रेस घिरती हुई नजर आ रही है. क्योंकि अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआइपी हेलीकॉप्टर सौदा मामले में गिरफ्तार बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल ने श्रीमती गांधी और एक इतालवी महिला के बेटे का जिक्र किया है. इससे सीधा मतलब सोनिया गांधी और राहुल गांधी से लगाया जा रहा है. दरअसल, साल 2012 में क्रिश्चियन मिशेल का नाम अगस्ता वेस्टलैंड के पक्ष में 3600 करोड़ रुपए का सौदा कराने और भारतीय अधिकारियों को अनुचित तरीके से लाभ पहुंचाने वाले बिचौलिए के रूप में सामने आया था. इस मामले में अन्य दो बिचौलियों के नाम राल्फ गिडो हस्के और कालरे गेरोसा हैं. काफी कोशिशों के बाद क्रिश्चियन मिशेल को संयुक्त अरब अमीरात से प्रत्यर्पित करके लाया जा सका है. वहीं अब मोदी सरकार को भी कांग्रेस को घेरने का एक और मौका मिल गया है और नरेंद्र मोदी भी इस मौके को भुनाने की कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. पांच राज्यों में हाल ही में मिली हार के बाद नरेंद्र मोदी को मानों मिशेल के बयान से संजीवनी ही मिल गई हो.

वीडियो में देखें पूरी जानकारी

इस बयान के बाद कांग्रेस पर निशाना साधते हुए केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इस मामले में गिरफ्तार बिचौलिये मिशेल का बयान एक परिवार की ओर इशारा कर रहा है. उन्होंने दावा किया कि यह परिवार अब पकड़ा जा चुका है. उन्होंने कहा कि अदालत में ईडी के खुलासे ने स्पष्ट कर दिया है कि सच को अब नहीं दबाया जा सकता. कांग्रेस, सोनिया गांधी और राहुल के बारे में सच लोगों के सामने आ रहा है. जनता कांग्रेस को करारा जवाब देगी. जावड़ेकर ने कहा कि देश वीवीआईपी हेलीकाप्टर मामले के बारे में पहले दो शब्दों परिवार और एपी से अवगत था लेकिन मिशेल ने अब ‘श्रीमती गांधी’, ‘इतालवी महिला का बेटा’, ‘बड़ा आदमी’ और ‘आर’ का उल्लेख करके कुछ और नाम लिए हैं.

वहीं रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि मिशेल इस मामले में बहुत अहम व्यक्ति था जो तय निर्वासन प्रक्रिया के बाद भारत लाया गया. उन्होंने दावा किया कि उसने सोनिया जी का नाम लिया है और अपने वकील को दी चिट में राहुल गांधी के बारे में भी संकेत दिए हैं. राजदार मिशेल बाकियों की मिलभगत का खुलासा कर रहा है. आज समय है कि गांधी परिवार जवाब दे. जहां तक कांग्रेस की बात है तो कोई भी सौदा किसी ‘सौदे’ के बिना पूरा नहीं होता.

सर्वे में खुलासा, 2019 में छिन जाएगी मोदी की पीएम कुर्सी, कोई और बनेगा प्रधानमंत्री?

वहीं कांग्रेस ने इस आरोप को खारिज करते हुए कहा कि केंद्र सरकार गांधी परिवार को फंसाने के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है. जिसके बाद कांग्रेस के जरिए सरकार पर गांधी परिवार को फंसाने के लिए जांच एजेंसियों पर दबाव डालने का आरोप लगाने पर रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि कांग्रेस ने उन्हें कैद कर रखा था लेकिन अब वे निष्पक्ष जांच कर पा रही हैं. राफेल सौदे पर नरेंद्र मोदी सरकार पर गांधी के हमले का जिक्र करते हुए जावड़ेकर ने इसे ‘चोर मचाये शोर’ का मामला करार दिया और दावा किया कि मिशेल ने यूपीए सरकार के दौरान राफेल करार से सार्वजनिक क्षेत्र की फर्म ‘एचएएल’ को हटाने के बारे में भी बोला है. हालांकि मिशेल के इस बयान के बाद देखना दिलचस्प होगा कि लोकसभा चुनाव से पहले और कौनसे नए घटनाक्रम देखने को मिलते हैं.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि आप देश के अगले प्रधानमंत्री के तौर पर राहुल गांधी को देखना चाहते हैं या नरेंद्र मोदी को?

(Visited 441 times, 1 visits today)

आपके लिए :