जान लीजिए खराब मौसम में ड्राइविंग करने के टिप्स, सही सलामत बच सकती है आपकी जान

आजकल बिना खुद के व्हीकल के कहीं आना-जाना काफी मुश्किल रहता है. अगर खुद की गाड़ी हो तो आसानी से कहीं भी आना-जाना किया जा सकता है. हालांकि खुद की गाड़ी लेने के बाद कई बार खराब या बुरे मौसम में हालात आउट ऑफ कंट्रोल हो जाते हैं. खराब मौसम में गाड़ी को संभाल पाना काफी मुश्किल भरा हो जाता है. ऐसे में एक्सीडेंट की संभावना भी काफी रहती है. वहीं आप घर जा रहे है और रास्ते में बहुत तेजी बारिश होने लगती है तो ऐसे खराब मौसम में आप क्या करेंगें…? जान लीजिए उन टिप्स के बारे में जिनकी मदद से आप खराब मौसम में भी सेफ ड्राइविंग कर सकते हैं…

फॉग लैंप
कोहरे और धुंध में फॉग लैंप्स काफी मददगार साबित होते हैं. यह कार में आगे और पीछे दोनों तरफ लगे होते हैं. अगर आपकी कार में यह फीचर नहीं है तो आप बाहर से भी फॉग लैंप्स लगवा सकते हैं. यह सामने वाले और पीछे चल रहे वाहन को आपकी दिशा की जानकारी देते हैं. कोहरे जैसे खराब मौसम में फॉग लैंप की मदद से ड्राइविंग काफी आसान हो जाती है.

वाइपर
बारिश के मौसम में भी ड्राइविंग में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. वहीं इस मौसम में जरूरी है कि गाड़ी का वाइपर अगर खराब है तो सही करवालें. मानसून शुरू होने से पहले कार के वाइपर की ठीक से जांच करा लें. अगर वाइपर में जरा भी खराबी हुई तो बारिश के दौरान कार चलाने में दिक्कत हो सकती है.

पैरों को बनाना है मजबूत तो शुरुआत में करें सिर्फ ये एक्सरसाइज

हेडलाइट
अपनी गाड़ी की हेडलाइट को हमेशा सही रखें. हेडलाइट आपको रात में खराब मौसम में रास्ता दिखाने के काफी काम आएगी. साथ ही कोहरे के वक्त में या बारिश के दौरान भी हेडलाइट का महत्व काफी बढ़ जाता है. इसलिए अपनी गाड़ी की हेडलाइट को हमेशा सही रखें. हेडलाइट्स के अलावा इंडीकेटर और बैक लाइट की भी जांच कर लेनी चाहिए. कार की हेडलाइट जितने मायने रखती है. उतने मायने ही इंडीकेटर और बैक लाइट भी रखती है.

धीरे चलें
खराब मौसम में कभी भी जल्दबाजी न करें. अपनी गाड़ी की स्पीड धीनी रखें. अक्सर देखा गया है कि सबसे ज्यादा दुर्घटनाएं तेज रफ्तार वाहन चलाने के कारण हुई हैं. ऐसे में खराब मौसम में आप अपनी गाड़ी की स्पीड पर कंट्रोल रखें. धीरे चलें क्योंकि गीली सड़कों पर ब्रेक लगाने के बाद गाड़ी रुकने में ज्यादा समय लगता है और आपको ब्रेक भी आराम से लगानी चाहिए. ब्रेक झटके से न दबाएं. ब्रेक दबाते समय पैर हमेशा हल्‍का रखें. गियर बदलते समय क्‍लच भी आराम से छोड़ें और एक्‍सीलेटर भी ज्‍यादा न दबाएं. इसके साथ ही अपने आगे चल रही गाड़ी से भी सामान्‍य से अधिक दूरी रखें.

हजार्ड लाइट

खराब मौसम में हजार्ड लाइट यानी दोनों इंडीकेटर ऑन करते हुए ड्राइविंग न करें. इस वजह से पीछे वाले वाहन को आपकी सही स्थिति का पता नहीं चल पाएगा और लेन बदलने या मुड़ने के दौरान हादसे होने का अंदेशा हो सकता है. इस का इस्तेमाल तभी करें जब आपकी कार रुकी हो.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर जरूर बताएं कि मॉनसुन किस सीजन को कहते हैं.

(Visited 60 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :