नवरात्री पर भूलकर भी न करें ये गलतियां, आ सकती है बड़ी मुसीबत

नवरात्री पर घरों में साफ-सफाई से लेकर व्रत की तैयारियों तक सभी दुरुस्त तरीके से होती है. व्रत को लेकर नवरात्र में कुछ सावधानियां भी बरतनी पड़ती है. हालांकि अक्सर हम बहुत कुछ याद रखते हुए व्रत के दौरान कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं जो नहीं करनी चाहिए. आज हम आपको ऐसी ही कुछ गलतियों के बारे में बताने जा रहे हैं. इन बातों को मानकर इन्हें व्रत के दिनों में फॉलो भी करें और उसका असर अपने जीवन में खुद देखिएगा.

लहसुन और प्यार को करें ना
अगर आप व्रत कर रहे हैं या फिर नवरात्री मना रहे हैं तो इन दिनों में लहसुन और प्याज का सेवन बिल्कुल भी न करें. लहसुन और प्याज को तामसी भोजन माना जाता है. इस लिहाज से ये व्रत के सेवन के लिए अशुद्ध होते हैं. जितना हो सके व्रत के दिनों में इसे घर में लाने से भी परहेज ही करें तो बेहतर होगा.

बाल और नाखून न काटें
नवरात्री का व्रत यदि आप नहीं भी कर रहे हैं तो कुछ ऐसी चीजें हैं जिनसे आपको दूरियां बनानी चाहिए. इस लिस्ट में है बाल और नाखूनों को न काटना. नवरात्री के दौरान शेविंग, हेयर कटिंग और वेक्सिंग जैसे चीजें से कुछ दिनों के लिए दूरी बना लें.

मादक पदार्थों का सेवन न करें
शराब जैसे नशीले पदार्थ का कतई सेवन न करें. नशीले पदार्थ का तो आम दिनचर्या में भी सेवन करने से बचना चाहिए लेकिन अगर आप ऐसा नहीं कर सकते हैं तो नवरात्री में तो इसका सेवन भूलकर भी कभी न करें. अगर नवरात्री पर मादक पदार्थों का सेवन करते हैं तो  ऐसा करने से घर में अशांति आती है.

ऐसे बनता है पैकेट वाला दूध, पूरी प्रक्रिया जानकर आप हैरान रह जाओगे…

मांसाहारी खाने न खाएं
व्रत में बेहद सादे खाने का सेवन किया जाता है. ऐसे में लहसुन प्याज के साथ-साथ अंडा और मांसाहारी खाने से भी परहेज करें. माना जाता है कि व्रत के दौरान आत्मा की शांति और शुद्धी बेहद जरूरी होती है. वही मांसाहारी खाना अशुद्ध माना जाता है. ऐसे में इसका परहेज जरूरी है.

लेदर से रहें दूर:
लेदर के जूते, चप्पल, कपड़े, पर्स, बेल्ट आदि किसी भी तरह का सामान जो लेदर से बना हो उनका इस्तेमाल न करें. क्योकि लेदर जानवर को मानकर उसकी खाल से बनाया जाता है. ऐसे में लेदर का इस्तेमाल भी व्रत में अशुद्ध ही होता है. इससे जितना हो सकते दूर ही रहने का प्रयास करें.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं कि करवा चौथ का व्रत क्यों रखा जाता है.

(Visited 1145 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :