क्या चल रहा है ?
पाकिस्तानी दुश्मन के हाथ की घड़ी का वक्त भी देख लेगा भारत का ये सैटेलाइट | अनुच्छेद 370: अमित शाह ने इस बड़े कारण से लद्दाख को कश्मीर से अलग किया? | प्रधानमंत्री 15 अगस्त को लाल किले पर ही क्यों फहराते हैं तिरंगा? | भारत को 15 अगस्त 1947 की रात 12 बजे ही आजादी क्यों मिली? | पाकिस्तान 15 अगस्त को आजाद हुआ लेकिन 14 अगस्त का क्यों मनाता है स्वतंत्रता दिवस? | बिहार के रवीश कुमार ने नरेंद्र मोदी की बोलती की बंद! मिला रेमन मैग्सेसे अवार्ड | क्या है कश्मीर का इतिहास? कश्मीर के लिए क्यों लड़ते हैं भारत-पाकिस्तान? | चांद पर एलियन का पता लगाएगा भारत का चंद्रयान-2? | चंद्रयान-2: अगर भारत को चांद पर मिली ये चीज तो दुनिया पर करेगा राज | लिफ्ट से चांद पर पहुंचना होगा आसान, चंद्रयान जैसे मिशन की भी जरूरत नहीं? | क्या है धारा 370? जम्मू कश्मीर से मोदी सरकार ने क्यों हटा दी? | चंद्रयान-2: इसरो के कदमों में गिरा नासा, मदद की मांगी भीख | चंद्रयान-2 का सच! क्या चांद पर वाकई पानी है? | चंद्रयान-2: लॉन्चिंग से पहले इसरो ये टोटका नहीं करता तो मिशन फेल हो जाता? | 'बाहुबली' चंद्रयान-2 को कंधे पर उठाकर चांद पर पहुंचाएगा?... | Xiaomi के Redmi K20 और Redmi K20 Pro ने तहलका मचा दिया... | बिहार में हर साल बाढ़ से तबाही क्यों मचती है? | Hyudai की Venue कार कैसी है? | अगर स्टडी में इंटरेस्ट नहीं हो तो ऐसे स्टूडेंट्स को क्या करना चाहिए? | 10 महीने की उम्र में इस बच्ची का वजन जानकर हर कोई दंग रह गया, देखें वीडियो |

दुनिया के सबसे खतनाक रेलवे ट्रेक, जहां मौत कब आ जाए कुछ कहा नहीं जा सकता

दुनिया के सबसे खतनाक रेलवे ट्रेक, जहां मौत कब आ जाए कुछ कहा नहीं जा सकता
दुनिया में जहां एक से एक खूबसूरत चीज है वहीं दिल दहला देने वाली जानलेवा चीजों की भी कमी नहीं है. अभी तक आपने कई सारे खूबसूरत रास्ते, फ्लई ओवर, पार्क देखे होंगे जहां आपका बार बार जाने का और गुड टाइम स्पेंड करने का मन करता होगा. लेकिन यहां आप ऐसे रेलवे स्टेशन के बारे में जान सकते हैं जो दुनिया के सबसे खतनाक रेलवे स्टेशन माने जाते हैं. ये ऐसे स्टेशन है जहां पर आप कभी भी जाना पसंद नहीं करेंगे. यहा जाना किसी खतरनाक स्टंट करने से कम नहीं होता. तो देर किस बात की जानिए कुछ ऐसे ही खतरनाक रेलवे ट्रेक के बारे में जहां सफर करना कमजोर दिल वालो के बस की बात नहीं... द डेथ रेलवे (बर्मा) ये रेलवे लाइन थाइलैंड से बर्मा के बीच है. बर्मा रेलवे को डेथ रेलवे के नाम से भी जाना जाता है. ऐसा इसलिए क्योंकि इसे बनाते वक्त करीब एक लाख वरकर्स की मौत हो गई थी जिनमें ज्यादातर कैदी थे. इनमें से कुछ कवाई नदीं में गिरकर मरे थे और कुछ ने आत्महत्या कर ली थी. आज भी इस रेलवे ट्रैक से गुजरते वक्त लोगों के मरे हुए लोगों की रुहे दिखाई देती हैं. 2019 के चुनाव में किसकी होगी जीत? ये मुद्दे करेंगे निर्धारित मैक्लॉन्ग रेलवे मार्केट (थाइलैंड) इस रेलवे ट्रैक को देखकर हर कोई चौंक जाता है क्योंकि ये एक ऐसा ट्रैक है जो बाजार के बीच बना हुई है. यहां से ट्रेन को बेहद भीड़ वाले इलाके से गुजरना पड़ता है और ऐसे में बड़े हादसे की संभावना सबसे ज्यादा रहती है. लोग पटरी की साइड में दुकानें लगा कर अपना सामान बेचते हैं. जैसे ही ट्रेन आती है ये लोग अपना सामान समेट लेते हैं और ट्रेन के गुजरते ही फिर से अपनी दुकान लगा लेते हैं. लैंड वास्सर वायाडक्ट (स्विटजरलैंड) ये रेलवे ट्रैक रोंगटे खड़े कर देने वाला है. ये रेलवे ट्रेक 213 फिट उंचाई पर बना हुआ है. जब ट्रेन इस ट्रैक से गुजरती है तो काफी तेजी से कांपती है. साथ ही नीचे गहरी खाई की वजह से ट्रेन में बैठे मुसाफिरों के दिल की धड़कन भी थम सी जाती है. डेविल्स नोज ट्रेन (इक्वाडोर) इस रेलवे ट्रैक के नाम से ही इसके खरतनाक होने का अंदाजा लगाया जा सकता है. हिंदी में इस ट्रैक पर चलने वाली ट्रेन को शैतान की नाक वाली ट्रेन कहा जाता है. इस ट्रैक पर सफर करने वाले लोगों का ये सबसे खतरनाक सफर माना जाता है. ये ट्रैक  समंदर से 9,000 फिट उंचाई पर है. ट्रैक के एक तरफ जहां ऊंची पहाड़ियां है वहीं दूसरी तरह गहरी खाई है. इसके साथ ही ये ट्रैक काफी जिक जैक शेप में बनाया गया है. ये ट्रैक दुनिया भर में सबसे ज्यादा खतरनाक रेलवे ट्रैक की लिस्ट में चौथे नंबर पर आता है. असो मिनामी रूट (जापान) जापान का ये रेलवे ट्रैक दुनिया के सबसे खतरनाक रेलवे ट्रैक में गिना जाता है. क्योंकि यहां से निकलने वाले धुएं और गैसों के कारण काफी सारे मुसाफिरों को कई जानलेवा बीमारियां भी हो चुकी हैं. चेन्नई टू रामेश्वरम रूट (भारत) भारत का ये रेलवे ट्रैक दुनिया का दूसरा सबसे खतरनाक रेलवे ट्रैक है. जिसकी वजह ट्रेन का समंदरर के बीच से गुजरना है. कई बार समंदर की लहरें ट्रैक के ऊपर भी उफनती हुई आ जाती हैं. ऐसे में डर इस बात का रहता है कि कहीं ट्रेन के गुजरते वक्त कोई ऐसी लहर ना आ जाए जो ट्रेन को समंदर में बहा कर ले जाए. 1914 में बना ये रेलवे ट्रैक पुराना होने के कारण भी काफी खतरनाक है. दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं कि आपके घर के पास नजदीकी रेलने स्टेशन का नाम क्या है?