क्या चल रहा है ?
भारतीय सेना के जवान भी इन कुत्तों को सलाम करते हैं...जानिए क्यों | कैसे बनता है खून? शरीर में कमी होने से कैसे बढ़ाएं खून की मात्रा? | बाप रे!! मोदी-शाह भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे? | ओवैसी के बारे में क्या सोचते हैं हैदराबादी मुसलमान? | कैसे बनाई जाती है पेंसिल? | फैक्ट्री में कैसे बनता है टोमैटो केचअप? | आलू चिप्स बनाना है आसान, ये रही पूरी प्रोसेस | नमक कैसे बनता है? समुद्र से लेकर आपके घर तक कैसे पहुंचता है? | अगर ये डॉक्युमेंट नहीं है तो NRC में आपकी नागरिकता जा सकती है | कैसी होती है डिटेंशन कैंप में जिन्दगी? | घुसपैठियों से ये भयानक काम करवाएगी मोदी सरकार? | क्या शरणार्थियों को रोजगार और घर दे पाएगी सरकार? | शरणार्थी और घुसपैठिया में क्या है अंतर? | नागरिकता कानून पर भारत उबल रहा है, कौन है इसके लिए जिम्मेदार? | जामिया में पुलिस ने क्यों की लाठीचार्ज? किस तरफ जा रहा है देश? | मोदी-शाह की जोड़ी फेल, राज्यों में लगातार मिल रही है हार | पाकिस्तान और बांग्लादेश में हिंदुओं की स्थिति कैसी है? | नागरिकता संशोधन कानून पर अमेरिका-पाकिस्तान ने भारत को चेताया | इसरो की कमाई कैसे होती है? कहां से आता है करोड़ों रुपया ? | विदेशों में भी मोदी मैजिक, मोदी के नाम से चुनाव जीत रहे हैं विदेशी नेता! |

क्या कॉन्टैक्ट लेंस के इन फायदे-नुकसान को आप जानते हो?

आंखों की रोशनी कम होने के कारण कॉन्टैक्ट लेंस या फिर चश्मे का इस्तेमाल किया जाता है. कई लोग चश्मा लगाना सही समझते हैं तो कुछ लोग कॉन्टैक्ट लेंस का इस्तेमाल भी करते हैं. कई ऐसे सेलेब्रिटि भी हैं जिनकी आंखों की रोशनी कम है और वो कॉन्टैक्ट लेंस का इस्तेमाल करते हैं. लेकिन सेलिब्रिटि भी हर वक्त कॉन्टैक्ट लेंस पहने हुए नहीं रखते हैं. इसके पीछे कॉन्टैक्ट लेंस के फायदे और नुकसान कारण हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कॉन्टैक्ट लेंस कितने के आते हैं और इनके फायदे-नुकसान क्या हैं? आइए जानते हैं.

दोस्तों, कॉन्टैक्ट लेंस की कीमत उनकी पॉवर और क्वालिटी के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है. कुछ कॉन्टैक्ट लेंस सस्ते में भी आ जाते हैं तो कुछ अच्छी क्वालिटी होने के कारण महंगे भी आते हैं. आमतौर पर आपको कॉन्टैक्ट लेंस एक हजार रुपये की कीमत तक मिल जाते हैं. लेकिन दोस्तों, कॉन्टैक्ट लेंस के कुछ फायदे और कुछ नुकसान भी है जिनका ध्यान रखना काफी जरूरी होता है. आप भी अगर कॉन्टैक्ट लेंस लगाते हैं या लगाने की सोच रहे हैं तो आपको इन फायदे और नुकसान के बारे में जानकारी होनी चाहिए. ऐसे में आप अपनी आखों की अच्छे से केयर भी कर सकेंगे.

तो दोस्तों, सबसे पहले हम कॉन्टैक्ट लेंस के फायदों के बारे में जान लेते हैं. दोस्तों, कॉन्टैक्ट लेंस का सबसे बड़ा फायदा ये होता है कि आपको चश्मा लगाने की जरूरत नहीं होती है. कॉन्टैक्ट लेंस आपकी आखों की पुतलियों में फिट हो जाता है. जिसके कारण आपकी आंखों की मूवमेंट के हिसाब से ही कॉन्टैक्ट लेंस मूव करते जाएंगे. चश्मे में आंख और चश्मे के लेंस के बीच की दूरी कभी-कभी परेशानी पैदा कर सकती है. लेकिन कॉन्टैक्ट लेंस आंख से सटे होने के कारण प्राकृतिक दृष्टि जैसा ही दृश्य पैदा करते हैं.

चश्मे में ग्लास जितने साइज का होता है उतना ही साफ दिखता से बाकि जगह साफ नहीं दिखता जबकि कांटेक्ट लेंस में से पूरा दृश्य साफ दिखता है. यह खूबी खेलते समय या गाड़ी चलते समय बहुत सहायक होती है. चश्मे से चेहरे और कान पर हमेशा एक वजन सा रहता है. जबकि कांटेक्ट लेंस में ऐसा नहीं होता. तापमान के बदलने से जैसे AC वाली कार से बाहर आने पर चश्मे का ग्लास धुंधला हो जाता है. कॉन्टैक्ट लेंस में ऐसा नहीं होता है. चश्मा पहना है तो फैशन के हिसाब से गोगल्स नहीं पहन सकते. कॉन्टैक्ट लेंस के साथ गोगल्स पहन सकते हैं.

इन फायदों के अलावा कॉन्टैक्ट लेंस को लेकर कुछ सावधानियां भी बरतनी जरूरी होती है. दोस्तों, कॉन्टैक्ट लेंस को कितनी देर पहनें और कितने समय बाद बदल लें, इसका सही तरीके से ध्यान रखने से कांटेक्ट लेंस आंख को नुकसान नहीं पहुंचाते. अच्छी क्वालिटी के कांटेक्ट लेंस में अपने आप आंख से निकलकर गिर जाने की संभावना नहीं होती है.

कॉन्टैक्ट लेंस लगाने से पहले हाथ साबुन से अच्छे से धो लेने चाहिए ताकि मिट्टी या कीटाणु हाथ के माध्यम से आंख में ना जाएं. हाथ धोने के लिए ग्लिसरीन या अधिक तेल युक्त साबुन काम में नहीं लेने चाहिए। हो सके तो लिंट फ्री कपड़े से हाथ पोंछें. इस प्रकार के कपड़े से हाथ पोंछने से इलेक्ट्रिक चार्ज पैदा नहीं होता है.

लेंस को निकालने के बाद हमेशा लेंस होल्डर में ही रखना चाहिए. लेंस होल्डर में सोल्यूशन कम नहीं होना चाहिए. सोल्युशन से लेंस की सफाई हो जाती है. सफाई के निर्देश लेंस के साथ मिल जाते हैं उसके अनुसार सफाई करनी चाहिए. लम्बे समय तक फेंके नहीं जाने वाले लेंस पर आंख के प्रोटीन जमा हो सकते है. इनको साफ करने के लिए अलग सोल्यूशन होता है. उसी सोल्यूशन से सफाई करनी चाहिए. दोस्तों, लेंस को पानी में स्टोर करके नहीं रखना चाहिए और रात को सोने से पहले निकाल देना चाहिए.

कॉन्टैक्ट लेंस के इन फायदे और नुकसान को जानकर आप भी अपनी सहूलियत के मुताबिक कॉन्टैक्ट लेंस लगा सकते हैं. कुछ परेशानी होने पर आप डॉक्टर की सलाह भी ले सकते हैं.