इंसानों ने बनाई है इतनी गगनचुंबी इमारतें, हर कोई देखकर देखता ही रह जाता है

धरती पर इंसानों को सबसे समझदार प्राणी माना जाता है. अपनी सूझबूझ के सहारे इंसान ने कई कामों को आसान बनाया है. इस दौरान इंसान ने कई ऐसी इमारतों और ढ़ांचों का निर्माण भी किया है जो किसी अजूबे से कम नहीं लगती हैं. आइए आज जान लेते हैं ऐसे ही कुछ निर्माण और संरचनाओं के बारे में जो इंसानों ने बनाई है और दुनिया भर में मशहूर है…

द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना
द ग्रेट वॉल ऑफ चाइना दुनिया के सात अजूबों में शुमार है. इस दीवार की लंबाई 3460 किमी है, ये दुनिया में इंसानों की बनाई सबसे बड़ी संरचना है. दीवार को बनाते वक्त इसके पत्थरों को जोड़ने के लिए चावल के आटे का इस्तेमाल क‌िया गया था. इस दीवार को बनाने के दौरान करीब 4 लाख लोगों की मौत हुई थी. चीन के पूर्व सम्राट किन शी हुआंग की कल्पना के बाद इसे बनाने में करीब 2 हजार साल लगे. वहीं एक करोड़ पयर्टक हर साल इस दीवार को देखने के लिए आते हैं. अंतरिक्ष से देखने पर भी ये दीवार दिखाई देती है. इस पूरी दीवार में बीकन टॉवर, सीढ़‌ियां और कई पुल भी शामिल हैं.

बुर्ज खलीफा
विश्व के धनी शहरों में से एक दुबई के नाम जो विश्व का सबसे बड़ा खिताब है, वह है दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा का. बुर्ज खलीफा दुबई में स्थित 829.8 मीटर ऊंचाई वाली दुनिया की सबसे ऊंची गगनचुंबी इमारत है. इसके साथ-साथ सबसे ऊंची फ्रीस्टैंडिंग इमारत, सबसे तेज और लंबी लिफ्ट, सबसे ऊंची मस्जिद, सबसे ऊंचे स्वीमिंग पूल, दूसरे सबसे ऊंचे अवलोकन डेक और सबसे ऊंचे रेस्तरां का खिताब भी बुर्ज खलीफा के नाम है. 163 तलों वाली यह इमारत दुनिया के सबसे ज्यादा तलों वाली इमारत भी है. बुर्ज खलीफा को बनाने में छह साल का समय लगा और आठ अरब डॉलर की राशि खर्च हुई. इसका निर्माण 21 सितंबर, 2004 में शुरू हुआ था और इसका आधिकारिक उद्घाटन चार जनवरी, 2010 को हुआ था. इमारत निर्माण में 1,10,000 टन से ज्याद कंक्रीट, 55,000 टन से ज्यादा स्टील रेबर लगा है. ऊंचाई के कारण इमारत के टॉप फ्लोर पर तापमान ग्राउंड फ्लोर के मुकाबले 15 डिग्री सेल्सियस कम रहता है. इमारत के 76वें तल पर दुनिया का सबसे ऊंचा स्वीमिंग पूल और 158वें तल पर दुनिया की सबसे ऊंची मस्जिद और 144वें तल पर दुनिया का सबसे ऊंचा नाइटक्लब है.

ये हैं दुनिया के रहस्यमयी टापू, यहां जाना अपनी मौत को न्यौता देने जैसा है…

द न्यू सेंचुरी ग्लोबल सेंटर
‘द न्यू सेंचुरी ग्लोबल सेंटर’ को दुनिया की सबसे बड़ी फ्री स्टैंडिंग बिल्डिंग का दर्जा हासिल है. चेंगडू स्थित इस इमारत को बनने में 3 साल लगे. अमेरिकी शहर वॉशिंगटन में बने पेंटागन की इमारत के मुकाबले यह बिल्डिंग करीब 3 गुना बड़ी है. जुलाई 2013 में, चीन में न्यू सेंचुरी ग्लोबल सेंटर का उद्घाटन किया गया जो कि 18.9 मिलियन-स्क्वायर फुट तक फैला हुआ है. इसमें 14 आइएमएक्स थिएटर और आर्टिफिशियल सनराइज और सनसेट के लिए खुद का बीच बनाया हुआ है.

मक्का रॉयल क्लॉक टावर
यह टावर सऊदी अरब के विश्व प्रसिद्ध मक्का शहर में है. 1,972 फीट ऊंचे इस टावर का निर्माण 2012 में हुआ था. इस बिल्डिंग के ऊपर 120 वें फ्लोर पर एक जर्मन आर्किटेक कंपनी ने क्लॉक टावर बनाया है.

दोस्तों, कमेंट बॉक्स में कमेंट कर बताएं कि चाइनीज भाषा किस देश में बोली जाती है.

(Visited 82 times, 1 visits today)

सुझाव कॉमेंट करें

About The Author

आपके लिए :