Home Trending कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बेस्ट है ये मास्क, मर जाते हैं सारे कीटाणु!

कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे बेस्ट है ये मास्क, मर जाते हैं सारे कीटाणु!

by Gwriter

कोरोना महामारी के कारण दुनिया में मास्क की डिमांड काफी बढ़ गई है. विश्व में कई तरह के मास्क इस्तेमाल किए जा रहे हैं. क्लिनिकल मास्क से लेकर N95 मास्क तक, सभी तरह के मास्क की मार्केट में अभी भी काफी डिमांड है. लेकिन इतने सारे मास्क के ऑप्शन होने पर अब सवाल यह आता है कि आखिर कोरोना को लेकर सबसे सेफ मास्क कौन सा है? अभी तक हमारा मानना यह था कि N95 मास्क सबसे बेस्ट है, क्योंकि वह 95 प्रतिशत हवा में मौजूद कणों को रोक लेता है. लेकिन न्यूजीलैंड में हाल ही में एओ एयर नाम की कंपनी ने ‘द एटम मास्क’ नाम से एक प्रोडक्ट लॉन्च किया है. कंपनी का दावा है कि यह मास्क अपनी टेक्नोलॉजी के चलते N95 से 25 प्रतिशत एक्सट्रा प्रोटेक्शन देता है. इस मास्क को बनाने में न्यूजीलैंड की सरकार ने भी एओ एयर कंपनी का साथ दिया है.

द एटम मास्क, आम मास्क की तरह नहीं है. इसमें आधुनिक तकनीकी का इस्तेमाल किया गया है. यह मास्क सिर्फ हमारे मुंह और नाक के हिस्से को ही कवर करता है. इस मास्क में ग्लास होने के कारण हमारा मुंह और नाक साफ तौर पर दिखाई पड़ता है. यह मास्क नाक को कवर करते हुए हमारी गर्दन के सहारे हमारे फेस पर टिका रहता है. कंपनी का कहना है कि यह मास्क दो साइज में मार्केट में आएगा, जो 95 परसेंट उपभोक्ताओं के फिट रहेगा. इस मास्क की खास बात यह है कि इसमें एयर फिल्टर और फेन लगा हुआ है, जो हवा को शुद्ध करने के बाद ही शरीर के अंदर जाने देता है. लूक की बात करें तो यह मास्क किसी चश्में से कम नहीं लगता है.

एओ एयर कंपनी ने इस मास्क को ज्यादा प्रदूषण वाली जगहों के लिए बनाया था. शुरुआती दौर यानी जनवरी में कंपनी ने इस मास्क को महज प्रदूषण वाले क्षेत्रों में इस्तेमाल करने के लिए बनाकर कुछ यूनिट मार्केट में उतार भी दी थी. लेकिन कोरोना के कहर के बाद कंपनी ने मास्क में जरूरी बदलाव करके इसे कोरोना से बचाव में इस्तेमाल करने के लिए बनाकर दोबारा लॉन्च किया है. कंपनी ने बदलाव करते हुए इसमें दो फिल्टर लगाए हैं. एक फिल्टर बड़े कणों को नष्ट करता है, तो दूसरा धूल और अन्य छोटे कणों को नष्ट करता है. जिससे उपभोक्ता को साफ और शुद्ध हवा मिलती है. साथ ही कोरोना फैलने का खतरा भी नाम मात्र का हो जाता है.

टेक्नोलॉजी से लैस यह मास्क बैटरी से चलता है. स्टेंडर्ड कंडीशन में यह मास्क 5 घंटे तक रेगुलर इस्तेमाल किया जा सकता है. साथ ही बैटरी कम होने पर हम इसे यूएसबी केबल से आसानी से चार्ज भी कर सकते हैं. इसमें लगे फिल्टर को भी हम बदल सकते हैं. कंपनी के मुताबिक अमूमन एक महीने तक फिल्टर अच्छा काम करता है, उसके बाद उसे बदलने की जरूरत पड़ती है. इसी के साथ यह मास्क एक एप के जरिए हमें हमारे आसपास की एयर की जानकारी भी देता है. गंदगी, धूल, किटाणु और बैटरी की जानकारी यह हमें हमारे मोबाइल पर देता है. तकनीकी के भंडार वाले इस मास्क की कीमत 350 अमेरिकी डॉलर है. साथ ही कंपनी का यह भी दावा है कि यह मास्क किसी भी एथलीट द्वारा भी इस्तेमाल किया जा सकता है. इस मास्क की इतनी क्षमता है कि यह एक एथलीट को उसकी जरूरत के हिसाब से शुद्ध हवा दे सकता है.

Related Articles

Leave a Comment