क्या चल रहा है ?
भारतीय सेना के जवान भी इन कुत्तों को सलाम करते हैं...जानिए क्यों | कैसे बनता है खून? शरीर में कमी होने से कैसे बढ़ाएं खून की मात्रा? | बाप रे!! मोदी-शाह भारत को हिंदू राष्ट्र बनाएंगे? | ओवैसी के बारे में क्या सोचते हैं हैदराबादी मुसलमान? | कैसे बनाई जाती है पेंसिल? | फैक्ट्री में कैसे बनता है टोमैटो केचअप? | आलू चिप्स बनाना है आसान, ये रही पूरी प्रोसेस | नमक कैसे बनता है? समुद्र से लेकर आपके घर तक कैसे पहुंचता है? | अगर ये डॉक्युमेंट नहीं है तो NRC में आपकी नागरिकता जा सकती है | कैसी होती है डिटेंशन कैंप में जिन्दगी? | घुसपैठियों से ये भयानक काम करवाएगी मोदी सरकार? | क्या शरणार्थियों को रोजगार और घर दे पाएगी सरकार? | शरणार्थी और घुसपैठिया में क्या है अंतर? | नागरिकता कानून पर भारत उबल रहा है, कौन है इसके लिए जिम्मेदार? | जामिया में पुलिस ने क्यों की लाठीचार्ज? किस तरफ जा रहा है देश? | मोदी-शाह की जोड़ी फेल, राज्यों में लगातार मिल रही है हार | पाकिस्तान और बांग्लादेश में हिंदुओं की स्थिति कैसी है? | नागरिकता संशोधन कानून पर अमेरिका-पाकिस्तान ने भारत को चेताया | इसरो की कमाई कैसे होती है? कहां से आता है करोड़ों रुपया ? | विदेशों में भी मोदी मैजिक, मोदी के नाम से चुनाव जीत रहे हैं विदेशी नेता! |

अक्षय कुमार का Charity work

अक्षय कुमार को आज भला कौन नहीं जानता। खिलाड़ी, केसरी, मिशन मंगल, houseful, धड़कन, Padman जैसी ना जाने कितनी ही सफल फिल्मों में काम करके अक्षय ने बॉलीवुड में अपने नाम का डंका बजा दिया है। लेकिन आज हम इनकी फिल्मों व कलाकारी के अलावा उस दूसरी छवि पर बात करेंगे, जिसे हर कोई पसंद करता है।

अक्षय कुमार को आज भला कौन नहीं जानता। खिलाड़ी, केसरी, मिशन मंगल, houseful, धड़कन, padman जैसी ना जाने कितनी ही सफल फिल्मों में काम करके अक्षय ने बॉलीवुड में अपने नाम का डंका बजा दिया है। लेकिन आज हम इनकी फिल्मों व कलाकारी के अलावा उस दूसरी छवि पर बात करेंगे, जिसे हर कोई पसंद करता है।

अक्षय कुमार का जन्म 9 सितम्बर 1967  पंजाब के अमृतसर में हुआ। इनका  असली नाम तो राजीव हरिओम भाटिया है, लेकिन बॉलीवुड जगत में अब यह अक्षय कुमार के नाम से जाने जाते है। 125 से ज्यादा फिल्मों में काम करने के बाद इन्होंने कई फिल्मफेयर अवार्डस जीते है और कईयों में इनका नामांकन भी हुआ। ‘दीदार; नाम की फिल्म से अक्षय ने अपने एक्टिंग career की शुरुवात की। काफी संघर्ष के बाद आखिरकार अक्षय कुमार ने उस मुकाम को हासिल कर लिया, जिसे पाने के लिए आज लाखों actors मुंबई में struggle कर रहे है।

दोस्तों, अक्षय की यह दमदार personality सिर्फ एक्टिंग की वजह से ही नहीं बनी, बल्कि एक अच्छा इंसान होने के तौर भी दुनिया उन्हें जानती है। जिन्होंने समाज कल्याण में अपनी कमाल की हिस्सेदारी निभाई है। तो एक नज़र डालते है अक्षय के charity work पर।

  • अगर आपको याद हो कि किस तरह असम राज्य अगस्त महीने में आई बाढ़ से पीड़ित था। उस समय अक्षय कुमार ने 2 करोड़ रूपए की सहायता राशि दान की थी। अक्षय ने CM रिलीफ फंड में 1 करोड़ और डूब चुके काजीरंगा नेशनल पार्क के लिए 1 करोड़ रूपए दिए थे।
  • ठीक इसी प्रकार जब चेन्नई में बाढ़ आई थी, तो उस समय भी अक्षय ने रिलीफ फंड में 1 करोड़ रूपए का दान दिया था।
  • बाढ़ की बात हो रही है, तो बता दे कि अभी जल्द में ही बिहारी राज्य में आई बाढ़ को लेकर काफी चर्चा छिड़ी थी। इस बाढ़ में बहुत लोगों ने अपना सब कुछ खो दिया था। ऐसे में अक्षय कुमार ने ऐसे 25 परिवारों को 4-4 लाख रूपए छठ पूजा के लिए दान किए थे।
  • बाढ़ के विपरीत सूखे से पीड़ित किसानों के गम को भी अक्षय ने समझा। सूखे और फसल बर्बाद होने के कारण एक बड़ी संख्या में किसानों ने आत्महत्या करी। महाराष्ट्र का विदर्भ उपक्षेत्र तो आपको याद होगा। जिसका नाम खास तौर पर किसानों की आत्महत्या को लेकर उछला था। यहां अक्षय कुमार ने करीब 180 पीड़ित परिवारों को 50-50 हजार रुपये की मदद दी। साथ ही यवतमाल गाँव को नवंबर 2016 में गोद ले लिया था।  
  • इतना ही नहीं 14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों के परिवारवालों को अक्षय कुमार ने 5 करोड़ रुपए का दान दिया था।
  • समाज सेवा के नाम पर अक्षय कुमार ने मुंबई के मशहूर जुहू समुद्र तट पर एक public toilet बनवाकर उसे बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) को सौंपा है।
  • इसके अलावा एक बार अक्षय कुमार एक सामूहिक विवाह समारोह में पहुंचे थे। जहां उन्होंने 100 दुल्हनों को 1-1 लाख रुपए दान दिये थे।

तो दोस्तों, देखा आपने कि कैसे अक्षय कुमार का सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं बल्कि सामाजिक कार्यों के प्रति भी विशेष रुझान है। जिसके चलते उन्हें दिलदार शख्सियत कहना गलत नहीं होगा। फिल्मी जगत में अपने काम को लेकर अक्षय कुमार कई अवार्ड्स जीत चुके है, लेकिन उनके इन सामाजिक कार्यों का कोई हिसाब नहीं लगाया जा सकता है।

*********