Home Trending एक 18 साल के युवा यूट्यूबर ने इस काम के लिए लगाई जिंदगी दांव पर, कभी न हारने वाले बॉक्सर फ्लायड मेवेदर की नाक में किया दम।

एक 18 साल के युवा यूट्यूबर ने इस काम के लिए लगाई जिंदगी दांव पर, कभी न हारने वाले बॉक्सर फ्लायड मेवेदर की नाक में किया दम।

by GwriterR

18 साल के लोगान पॉल ने मैच के बाद कहा, ‘मैं नहीं चाहता कि कोई मुझे फिर कभी बताए कि कुछ भी असंभव है। सच्चाई ये है कि मैं यहां ऑल टाइम ग्रेट मुक्केबाजों (all time great boxers) में से एक के खिलाफ खेला। यह साबित करता है कि किसी भी कठिनाई का सामना कर उसके ऊपर विजय पाई जा सकती है।’

यह घटना दिखने में काफी नाटकीय लगती है, लेकिन यह बिल्कुल सही है। आज तक एक भी फाइट नहीं हारने वाले बॉक्सर फ्लायड मेवेदर के खिलाफ रिंग में एक सिम्पल से यूट्यूबर के सामने पसीने छूट गए। फ्लायड मेवेदर ने अब तक 50 मैच लड़े हैं और सभी ऑपोनेंट्स को धूल चटाई है। उनके साथ यह पहली बार है जब वह उसके सामने जीत नही पाए। वह हारे भी तो किसी पेशेवर बॉक्सर से नहीं, बल्कि हारे भी तो एक यूट्यूबर से जिसका नाम लोगान पॉल है।

यूट्यूबर लोगान पॉल ने मेवेदर जैसे बॉक्सर से लड़ने का फैसला जरूरतमंदो की मदद करने के लिए किया। असल में यह मैच एक चैरिटी मैच था। इस मैच के माध्यम से होने वाली कमाई या ईनाम को जरुरतमंद लोगों का भला करने के लिए की जानी थी। लोगान पॉल को मेवेदर के खिलाफ जीत हासिल करने का मौका इसलिए नहीं मिल पाया, क्योंकि यह एक चैरिटी मुकाबला था। रविवार रात मियामी स्थित हार्ड रॉक स्टेडियम में दोनों के बीच में तीन-तीन मिनट के 8 राउंड तक का मुकाबला चला।

मेवेदर और पॉल ने 10 औंस के ग्लव्स पहने हुए थे। मजे की बात यह भी है कि मैच के लिए कोई भी जज (रेफरी) नहीं था। यही वजह रही कि आधिकारिक तौर पर किसी को भी न तो हारा माना गया ना ही किसी को विजेता घोषित किया गया। वहीं लोगान पॉल और फ्लायड मेवेदर दोनोके बीच की यह मैच एक दम मान्य थी। पॉल के कोच मिल्टन लैक्रोइक्स ने पिछले महीने ही ईएसपीएन (ESPN) को कहा था कि इस लड़ाई में उनके खिलाड के जीतने की पूरी संभावना है। पॉल ने उनकी इस बात को साबित भी किया।

दोनो के बीच के मैच को आधिकारिक रूप से मान्यता न होने पॉल के बावजूद दोनो के बीच का मैच काफी मजेदार देखने के योग्य रहा। और इस मैच में न कोई हारा न ही कोइ जीता इसलिए फ्लायड मेवेदर का कभी भी न हारने वाला रिकॉर्ड आगे भी कायम रहेगा। मैच के बाद पॉल ने कहा, ‘मैं नहीं चाहता कि कोई मुझे बताए कि फिर कभी कुछ असंभव है। असल बात तो यह है कि मैं यहां ऑल टाइम ग्रेट मुक्केबाजों में से एक के खिलाफ खेला। यह साबित करता है कि किसी भी प्रकार की कठिनाई से निजात पाई जा सकता है।’

Related Articles

Leave a Comment